भारत में मिला Triple Mutant Variant जानिए किस राज्य में है इसका असर

0
64
Triple Mutation Variant
क्या भारत में कोरोना का हैं Triple Mutation Variant ? जानिए क्या है ये और कितना है लोगों के लिए संक्रामक

भारत में कोरोना का कहर दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। कोरोना के बढ़ते केस की वजह से चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है। पिछले 24 घंटे में 3 लाख से भी अधिक मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना के बढ़ते केस के पीछे का जिम्मेवार कोविड-19 का डबल म्यूटेशन वाला वेरिएंट बताया जा रहा है। लेकिन आपको बता दें भारत में सिर्फ डबल म्यूटेशन वाले कोरोना वेरिएंट नहीं, बल्कि ट्रिपल म्यूटेशन (Triple Mutation Variant) वाले वेरिएंट ने भी दस्तक दे दी है। देश के सामने यह एक और बड़ी चुनौती बनकर सामने आई है।

ये भी पढ़ें – कोविड-19 वैक्सीनेशन से पहले क्या खाएं और क्या नहीं?

ट्रिपल म्यूटेशन का मतलब कोरोना के तीन अलग-अलग स्ट्रेन को मिलकर बना एक नया वेरिएंट। भारत के कुछ हिस्सों में ट्रिपल म्यूटेशन वेरिएंट (Triple Mutation Variant in India) मिलने की खबरें लगातार सामने आ रही हैं। खबरों के अनुसार, पश्चिम बंगाल, दिल्ली और महाराष्ट्र में कोरोना के ट्रिपल म्यूटेंट वायरस मिले हैं। इस मामले में वैज्ञानिकों का कहना है कि भारत में तेजी से कोरोना के बढ़ते मामलों का जिम्मेवार वेरिएंट ही हैं। दरअसल, वायरस जितना ज्यादा फैलता है, वह उतना ही अपना नई कॉफी बनाता है। ऐसे में वायरस के लक्षणों में कई तरह के बदलाव भी देखे जाते हैं।

ट्रिपल म्यूटेशन क्या है? (What is Triple Mutation)

भारत में पहले लगातार कोरोना का डबल म्यूटेशन वाला वेरिएंट मिला था। इसका मतलब यह है कि कोरोना के दो अलग-अलग स्ट्रेन मिल गए हों। लेकिन अब ट्रिपल म्यूटेशन वेरिएंट भी मिलने की खबरे सामने आ रही हैं। यानि अब तीन अलग-अलग स्ट्रेन एक साथ मिल गए हैं।

ये भी पढ़ें – कोरोना काल में नारियल का करें सेवन, कई बीमारियों को रख सकता है आपसे दूर

ट्रिपल म्यूटेशन कहां मिला? (Where did you find the Triple Mutation?)

खबरों के अनुसार, दिल्ली, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल में ट्रिपल म्यूटेशन वेरिएंट मिले हैं।

क्या ट्रिपल म्यूटेशन संक्रामक है? (Is Triple Mutation contagious?)

इस बारे में वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों का कहना है कि वायरस में म्यूटेशन की वजह से न सिर्फ भारत में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, बल्कि इससे पूरी दुनिया के मामले बढ़ते जा रहे हैं। लेकिन अभी ट्रिपल म्यूटेशन के वेरिएंट की जांच नहीं की गई है। ऐसे में यह लोगों के लिए कितना घातक होगा, इसके बारे में कहना मुश्किल है। अभी इसपर और अधिक रिसर्च की जरूरत है। बता दें कि कोरोना के डबल म्यूटेंट वेरिएंट से न सिर्फ युवा प्रभावित हुए, बल्कि इस वायरस ने नवजात शिशुओं को भी अपनी चपेट में ले लिया है। ऐसे में ट्रिपल म्यूटेशन और अधिक घातक होने की संभावना जताई जा रही है।

कोरोना से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Corona News in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here