वैज्ञानिकों को मिली बहुत बड़ी सफलता, मिली कोरोनावायरस से जान बचाने वाली दवा

Coronavirus Medicine Dexamethasone

Coronavirus Medicine: कोरोनावायरस की दवाइयों को लेकर कई डॉक्टर्स और वैज्ञानिकों ने दावा किया है। इस बीच इंग्लैंड के रिसर्चर्स ने दावा किया है कि डेक्सामेथासोन दवा (Dexamethasone) कोरोनावायरस से जूझ रहे लोगों में मौत का खतरा घटा सकती है। (Coronavirus Medicine) इस दवा से कोरोनावायरस के संक्रमण के कारण होने वाली मौतों का खतरा एक तिहाई तक घटाया जा सकता है। यह रिसर्च ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में किया गया है। इस रिसर्च के नतीजे मंगलवार को जारी किए गए।

ये भी पढ़ें – कोरोनावायरस से ठीक हुए मरीजों को 30 दिनों तक नहीं करना चाहिए सेक्स

इस अध्ययन में कोरोनावायरस (Coronavirus Medicine) से संक्रमित 2,104 मरीजों पर रिसर्च किया गया है। इन मरीजों की तुलना 4,321 दूसरे कोरोना संक्रमित मरीजों से की गई है, जिनका सामान्य इलाज चल रहा था।

ऑक्सीजन ले रहे मरीजों में मौत का खतरा 20 फीसदी घटा

रिसर्चर्स का कहना है कि कोरोनावायरस से पीड़ित मरीजों को डेक्सामेथासोन दवा (Dexamethasone) ओरल या नली के द्वारा दी जाती है। जिन मरीजों को ब्रीदिंग मशीन की जरूरत पड़ी, उनमें मौत का खतरा 35 प्रतिशत तक घटा है। वहीं, जो ऑक्सीजन ले रहे थे उनमें 20 फीसदी मौत का खतरा कम हुआ।

ये भी पढ़ें – कोरोनावायरस और सामान्य फ्लू में है काफी अंतर, दोनों के लक्षणों में ऐसे करें फर्क

असरदार के साथ सस्ती है दवा

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स पीटर हॉर्बे के अनुसार, रिसर्च के दौरान कोरोना मरीजों में सहन क्षमता काफी बढ़ी है। जिन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है, उनमें डेक्सामेथासोन (Dexamethasone) दवा देने पर पॉजिटिव असर देखा गया है। यह दवा असरदार होने के साथ-साथ अन्य दवाओं की तुलना में सस्ती भी है। इस दवा का इस्तेमाल वैश्विक स्तर पर लोगों की जान बचाने के लिए किया जा सकता है।

इम्यून सिस्टम को नष्ट होने से करता है बचाव

रिसर्चर्स के अनुसार, कोरोनावायरस से जूझ रहे गंभीर मरीजों के लिए यह दवा काफी असरदार है। इस दवा का इस्तेमाल पहले सूजन, एलर्जी और अस्थमा जैसी बीमारियों के किया जाता है।

ये भी पढ़ें – कोरोना वायरस लोगों को बचाएगी ये चाय, रिसर्च कार्यों में जुड़ा नाम

कोरोना से संक्रमित मरीजों का इम्यून सिस्टम नष्ट हो जाता है, इसके कारण इम्यून सिस्टम उल्टा काम करने लगता है। इस स्थिति को सायटोकाइन स्टॉर्म कहते हैं, मरीजों में मौत का खतरा बढ़ाता है। ऐसे में डेक्सामेथासोन (Dexamethasone) इम्यून सिस्टम को शरीर से नष्ट होने में रोकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
YouTube
Pinterest
Instagram