Home Blog

Facial Hair Removal Tips: चेहरे के अनचाहे बालों को हटाने का आसान तरीका, इन घरेलू उपायों को अपनाएं

0

Facial hair removal tips: हर लड़की के लिए अपनी सुंदरता मायने रखती है। लेकिन कई बार खूबसरत होते हुए भी चेहरे के अनचाहे बाल सौंदर्य खराब कर देते हैं। कुछ लोगों के चेहरे पर बाल जन्म से होते हैं, लेकिन कुछ लोगों में बढ़ती उम्र के साथ बदलने वाले हार्मोंन्स के कारण भी चेहरे पर अनचाहे बाल आ जाते हैं। फेशियल हेयर (Facial Hair) हटाने के लिए हम तरह-तरह के क्रीम और ब्लीच यूज करते हैं। लेकिन बार-बार ऐसा करने से चेहरे में एलर्जी हो सकती है,जिसके बाद चेहरे पर निशान पड़ जाते हैं। इसलिए आज हम आपको चेहरे के अनचाहे बालों को हटाने के लिए खास घरेलू उपाय बताने वाले हैं। जिन्हें अपना कर आप फेशियल हेयर से छुटकारा पा सकती हैं।

क्यों होते हैं फेशियल हेयर (Facial Hair Causes )

महिलाओं के चेहरे पर घने बाल होने के कई विशेष कारण होते हैं, जिनके बारे में आपके लिए जानना बेहद जरुर है….

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम:  इसमें महिला के अंडाशय में पुरुष हॉर्मोन का ज्यादा उत्पादन होने लगता है। साथ ही इस समस्या में महिला के अंडाशय में कुछ सिस्ट बनने लगती हैं।

एड्रेनल ग्लैंड का कैंसर: ये त्रिकोणाकार के दो ग्लैंड होते हैं, जो किडनी के ऊपर मौजूद होते हैं। इनमें कैंसर या ट्यूमर होने के कारण महिलाओं में चेहरे पर अधिक बाल आने की समस्या हो सकती है।

अंडाशय का कैंसर: अंडाशय में ट्यूमर या कैंसर की समस्या होने पर भी महिलाओं को चेहरे पर घने और अनचाहे बाल की समस्या हो सकती है।

कुशिंग सिंड्रोम: इस समस्या में शरीर में कॉर्टिसोल नामक हार्मोन की मात्रा बढ़ जाती है। यह समस्या इस हार्मोन से युक्त दवाइयों का अधिक सेवन करने से हो सकती है। ये दवाइयां अस्थमा, त्वचा की सूजन, कैंसर, आंत्र रोग, जोड़ों के दर्द और गठिया जैसी बीमारियों का उपचार करने के लिए उपयोग की जाती हैं। महिलाओं में कुशिंग सिंड्रोम का एक लक्षण चेहरे पर अधिक बाल आना भी है।

इन घरेलू उपायों से हटायें फेशियल हेयर (Facial Hair Removal Home Remedies)

  1. पैन में शक्कर, शहद और नींबू का रस डालकर कम आंच पर गर्म करें। इसे लगातार चलाते रहें, धीरे-धीरे इसका रंग हल्का भूरा सुनहरा होने लगेगा। तब इसे आंच से उतार दें। वैक्स इतना गर्म हो कि त्वचा पर चिकप जाए, चेहरे पर वैक्स लगाएं और वैक्स स्ट्रिप लगाकर 10-12 सेकंड के लिए उस पर थपथापाएं। इससे स्ट्रिप उस पर अच्छी तरह चिपक जाएगी। अब बालों के उगने की उल्टी दिशा में स्ट्रिप को एक झटके में खींच लें। अनचाहे बाल हटाने के उपाय की इस प्रक्रिया को अपने बालों की ग्रोथ के अनुसार दोहरा सकते हैं।
  2. कच्चे पपीते को छीलकर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर दें। अब इन टुकड़ों को अच्छे से पीसकर पेस्ट बना लें। इस पपीते के पेस्ट में आधा चम्मच हल्दी पाउडर मिला लें। अब इस मिश्रण को अपने चेहरे पर जहां-जहां बाल हैं, वहां लगाएं। इसके बाद 15 से 20 मिनट तक मालिश करें। फिर इसे पानी से धो लें। चेहरे पर बाल हटाने के उपाय के लिए हफ्ते में एक या दो बार इस मिश्रण को लगा सकते हैं।
  3. अनचाहे बालों को हटाने (How to remove facial hair) के लिए दलिया और मसले हुए केले को मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें। अब इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं। फिर इससे 15 से 20 मिनट के लिए मालिश करें। जहां-जहां बाल हैं, वहां इससे मालिश करने के बाद ठंडे पानी से धो लें। आप इस मिश्रण को हफ्ते में एक बार लगा सकते हैं।
  4. एक चम्मच अखरोट के छिलके का पाउडर और एक चम्मच शहद लें। कटोरी में दोनों सामग्रियों को मिला लें। अब इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट के लिए छोड़ दें। 15 मिनट के बाद उंगलियों को गीला करें और चेहरे पर सर्कुलर मोशन में घुमाकर मसाज करें। इसके बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें। आप इसे हफ्ते में एक बार इस्तेमाल कर सकते हैं।
  5. एक अंडे को तोड़कर उसका सफेद हिस्सा अलग कर लें। चीनी और मक्के के आटे को अंडे के सफेद हिस्से में मिलाएं। फिर इसे तब तक मिक्स करें, जब तक कि यह अच्छे से पेस्ट न बन जाए। अब इस पेस्ट को उन जगहों पर लगाएं, जहां आपके अनचाहे बाल हैं। फिर इसे 20-25 मिनट तक सूखने दें। जब यह सूख जाए, तो चेहरे को धो लें। इसे हफ्ते में एक या दो बार इस्तेमाल कर सकते हैं। 

नोट:  बताए गए सभी उपायों को करने से पहले इनका पैच टेस्ट जरुर करें।

इन तरीकों को भी अपना सकते हैं (Facial Hair Removal Process)

हमारे द्वारा बताए गए उपायों के अलावा आप फेशियल हेयर हटाने के लिए थ्रेडिंग, वैक्सिंग, प्लकिंग, ब्लीचिंग भी करा सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि इन तरीकों को अपनाते हुए आप किसी भी विषेशज्ञ की देखरेख में रहें क्योंकि इनके कई साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। लेकिन घरेलू और केमिकल फ्री चीजों को लगाने से आपके चेहरे को किसी तरह का नुकसान नहीं होगा।

Read Also |

Mosquito Bites Itching Remedies: मच्छरों को काटने से क्यों होती है खुजली और सूजन? इन 5 तरीकों से पाएं इस समस्या से राहत

0
mosquito bites itching Remedies
मच्छरों को काटने से क्यों होती है खुजली और सूजन? इन 5 तरीकों से पाएं इस समस्या से राहत

बारिश के सीजन में मच्छरों का प्रकोप काफी ज्यादा बढ़ जाता है। इसी वजह से मॉनसून में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया का खतरा ज्यादा रहता है। ऐसे में हम में से अधिकतर लोग मच्छरों से बचने के लिए कई तरह के उपाय भी अपनाते हैं। लेकिन फिर भी कई कारणों से मच्छरों से बच नहीं पाते हैं। मच्छरों के काटने पर हमें स्किन पर काफी खुजली होने लगती है। क्या कभी आपने यह सोचा है कि आखिर मच्छरों के काटने से खुजली क्यों होती है?

कई बार आपने देखा होगा कि मच्छारों के काटने पर स्किन पर सूजन के साथ खुजली हो जाती है। अगर आप उस स्थान पर ज्यादा खुजली करते हैं, तो स्किन लाल हो जाते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि मच्छरों के काटने से खुजली क्यों होती है। साथ ही इस खुजली (mosquito bites itching Remedies) से राहत पाने के उपाय क्या हैं?

मच्छरों के काटने से क्यों होती है खुजली? (Mosquito Bites Itching Causes)

मच्छरों के काटने से अलग-अलग लोगों में अलग-अलग लक्षण दिख सकते हैं। साथ ही लोगों की प्रतिक्रिया भी अलग हो सकती है। जब भी हमें मच्छर काटता है, तो वह हमारे शरीर का खून चूसता है। इस दौरान मच्छर हमारे ब्लड में लार छोड़ देता है। मच्छरों के लार में प्रोटीन, एंजाइम और एंटीकोगुलेंट जैसे गुण मौजूद होते हैं, जो ब्लड का थक्का बनने से रोकता है। इसी कारण से मच्छर हमारे शरीर से खून चूसने में सफल होते हैं। यह प्रोटीन, एंजाइम और एंटीकोगुलेंट हमारे शरीर में एलर्जी उत्पन्न करते हैं, जिसकी वजह से स्किन पर खुजली और सूजन होने लगती है। चलिए जानते हैं इस खुजली से कैसे पाएं राहत-

1. शहद का करें इस्तेमाल (Use Honey)

मच्छरों के काटने से अगर आपकी स्किन पर खुजली और सूजन हो गई है, तो प्रभावित हिस्से पर शहद लगाएं। शहद में एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण पाया जाता है, जो आपके घाव को जल्दी ठीक कर सकता है। यह मच्छरके काटने का सबसे आसान और असरकारी तरीका साबित हो सकता है।

2. तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल (Use Basil Leaves)

मच्छरों के काटने पर आप तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। तुलसी के पत्तों का रस लगाने से खुजली से तुरंत राहत मिल सकेगा। तुलसी की ताजी पत्तियों को पीसकर प्रभावित स्थान पर लगाएं। इससे आपको सूजन और खुलजी होने समस्या से राहत मिल सकती है।

3. एलोवेरा का करें इस्तेमाल (Use Alovera)

यदि आपके घर में एलोवेरा का पौधा है, तो यह आपके लिए काफी बेहतर हो सकता है। क्योंकि एलोवेरा मच्छरों के काटने से होने वाली खुजली से राहत दिलाने में असरदार हो सकता है। इससे आपको काफी ठंडक महसूस होती है।

4. नीम का पेस्ट (Neem Paste)

मच्छरों के काटने पर अगर आपको खुजली और सूजन महसूस हो रही है, तो आप नीम के पेस्ट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए नीम की कुछ पत्तियां लेकर नीम का पेस्ट तैयार कर लें। अब इसे खुजली वाले स्थान पर लगाएं। इससे आपको खुजली से तुरंत राहत मिलेगा।

5. लहसुन का पेस्ट (Garlic Paste)

मच्छरों के काटने पर आप लहसुन के पेस्ट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। लहसुन में एंटीवायरल गुण मौजूद होता है, जो घाव को जल्द भरने में असरदार होता है। इसके लिए लहसुन का पेस्ट तैयार कर लें। अब इसे खुलजी और सूजन वाले स्थान पर लगा लें। इससे आपको मच्छरों से होने वाली खुजली से राहत मिल सकता है। अगर आप चाहें, तो लहसुन के पेस्ट में नारियल तेल की कुछ बूंदे भी मिला सकते हैं। इससे आपको काफी आराम मिलेगा।

ध्यान रखें कि इन दिनों मच्छरों का प्रकोप काफी ज्यादा बढ़ रहा है। ऐसे में मच्छरों से होने वाली बीमारियों से बचने के लिए जरूरी नियमों को फॉलों करें। घर में हमेशा मच्छरदानी लगाकर सोएं। अपने आसपास पानी इकट्ठा न होने दें। अगर आपको किसी तरह की समस्या महसूस हो रही है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

Also Read: जानिए घमोरियों से निजात पाने का बेहद आसान घरेलू उपाय

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल करें ये 4 बेरीज, घर पर इस तरह तैयार करें इन Berries का फेसपैक

0
Berry Face Pack

बेरीज स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन बेरीज के इस्तेमाल (Berry Face packs) से आप अपनी स्किन पर भी निखार ला सकते हैं। यह बेरीज सेहत के साथ-साथ स्किन के लिए भी काफी फायदेमंद होती हैं। अगर आप अपने डेली स्किन केयर रुटीन में बेरीज को शामिल करते हैं, तो आपकी त्वचा से जुड़ी कई परेशानियां दूर हो सकती हैं। इन बेरीज से तैयार फेसपैक (berry Face packs) को लगाने से आपकी स्किन सॉफ्ट और ग्लोइंग हो सकती है। दरअसल, रसबेरी, मलबेरी, चेरी और ब्लू बेरीज एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है, जो आपकी स्किन को चमकदार बनाने में आपकी मदद करता है। चलिए जानते हैं किस तरह तैयार करें इन बेरीज से फेसपैक (Homemade berry Face packs)?

1. स्ट्रॉबेरी और नींबू का फेसपैक

स्ट्रॉबेरी स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है। यह एंस्ट्रिजेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। इसके इस्तेमाल से आप स्किन को सूरज की किरणों से बचा सकते हैं। इस फेसपैक को तैयार करने के लिए एक कटोरी लें। अब इसमें 2 से 3 स्ट्रॉबेरी को अच्छे से मैश कर लें। इसके बाद इसमें नींबू का रस डालकर इसे अच्छी तरह मिक्स करें। तैयार पेस्ट को आप अपने चेहरे और गर्दन पर लगा लें। करीब 15 मिनट तक इस फेसपैक को लगा हुआ छोड़ दें। इसके बाद सादे पानी से चेहरा साफ कर लें। इससे आपको इंस्टेंट निखार (Berries Face Pack For skin) मिलेगा

skincare Tips

2. ब्लूबेरी और दही

ब्लूबेरी विटामिन ए और विटामिन सी जैसे तत्वों से भरपूर होता है, जो स्किन की कई समस्याओं को दूर करने में असरदार है। ब्लूबेरी और दही का फेसपैक (Blue Berry and Curd Facepack) लगाने से आपके चेहरे पर निखार आएगा। इस फेसपैक को तैयार करने के लिए एक बाउल में थोड़ी सी ब्लूबेरी को अच्छे से मैश कर लीजिए। इसके बाद इसमें 1 चम्मच करीब दही और शहद आधा चम्मच डालकर अच्छे से मिक्स करें। इसके बाद इस पेस्ट को करीब 20 मिनट के लिए अपने चेहरे पर लगाएं। बाद में अपने चेहरे को ठंडे पानी से साफ कर लें। इससे आपकी स्किन हेल्दी ( Daily Skin Care Routine) हो सकती है।

3. रसबेरी और दही

स्किन की झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए आप रसबेरी और दही (Rubbery and Curd Facepack at Home) से तैयार फेसपैक लगा सकते हैं। इस पैक से आपकी स्किन सूर्य की किरणों से सुरक्षित रहेगी। इस फैक को तैयार करने के लिए एक कटोरी में रसबेरी को मैश करें। फिर इसमें दही डालकर अच्छे से मिक्स करेँ। तैयार पेस्ट को करीब 15 मिनट तक अपने चेहरे पर लगाएं। इसके बाद अपने चेहरे को ठंडे पानी से साफ कर लें। इस फेसपैक को लगाने से आपकी स्किन पर तुरंत निखार आएगा। साथ ही बढ़ते उम्र के (Fruit Face pack at Home,) लक्षण भी कम होंगे।

Women Skincare Tips in Hindi
Skin Care

4. चेरी और शहद

चेरी और शहद से तैयार फेसपैक आपकी स्किन पर निखार ला सकता है। डेली रुटीन में इस पैक को शामिल करने से आपकी बढ़ती उम्र थम जाएगी। इससे आपकी स्किन जवां दिख सकती है। इस पैक को तैयार करने के लिए एक कटोरी में मैश किए हुए चेरी और दही को अच्छे से मिक्स करें। इसके बाद इस पेस्ट को करीब 15 मिनट के लिए अपने चेहरे पर लगाएं। इसके बाद चेहरे को साफ कर लें। इससे आपके चेहरे पर चमक (Glowing Skin Care) आ सकती है।

Note : अगर आप अपनी स्किन की परेशानियों को दूर करना चाहते हैं, तो इन फेसपैक को अपने डेली रुटीन में जरूर शामिल करें। इससे आपकी स्किन से जुड़ी कई परेशानियां दूर हो सकती हैं। लेकिन ध्यान रखें कि अगर आपको इन में से किसी भी चीज से एलर्जी है, तो उसका इस्तेमाल करने से बचें। क्योंकि इससे आपकी एलर्जी बढ़ सकती है।

Read More Articles on Skin Care

Monsoon Fruits: मानसून की बीमारियों से पाना चाहते हैं निजात तो जरुर करें इन फलों का सेवन

0

Monsoon Fruits: मानसून का मौसम किसे पसंद नहीं होता साल का ये मौसम जितना सुहाना होता है, उतनी ही बीमारियां अपने साथ लेकर आता है। ऐसे में आपको और पूरे परिवार को सही देख-रेख जरुरत होती है। बरसात के दिनों में हमारे शरीर में एलेर्जी, इंफेक्शन और डायजेशन से जुड़ी कई समस्याएं जन्म लेती हैं। इनसे बचने के लिए हमारे शरीर को कुछ खास पोषक तत्वों की जरूरत होती है। ये सभी पोषक तत्व कुछ खास किस्म के मौसमी फलों में ही पाए जाते हैं।

जानिए मानसून में खाए जाने वाले फलों के गुण (facts about monsoon fruits)

जामुन का करें सेवन 

जामुन में कैलोरी की मात्रा कम होती है और यह आयरन, फोलेट, पोटेशियम और विटामिन से भरपूर होते हैं बरसात के मौसम में आने वाला जामुन शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में कारगर है। मॉनसून के वक्त इसके सेवन से शरीर को बहुत लाभ मिलता हैं। इसलिए मानसून में जामुन जरुर खाएं

आलू बुखारे के सेवन से मिलेगा लाभ

आलू बुखारा में विटामिन-सी काफी ज्यादा मात्रा में होता है, जो हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन लेवल को बढ़ाकर एनीमिया से बचाने का काम करता है। इसमें नैचुरल चीन सोर्बिटोल और प्लांट फाइबर भी पाया जाता है।

चेरी से मिलेगा लाभ

चेरी बॉडी में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करती हैं और कैंसर रोधी गुणों से युक्त होती है, साथ ही इसमें में मेलाटोनिन एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में होता है, जो हमारी कोशिका तंत्र को फ्री-रेडिकल्सस से होने वाले नुकसान से बचाता है।

आड़ू का करें सेवन

आड़ू में विटामिन-ए, विटामिन-बी, विटामिन-सी और कैरोटीन भरपूर मात्रा में होते हैं, जो हमारे इम्यूीनिटी सिस्टम के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। ये हमारी आंखों और त्वचा के लिए भी बड़ा फायदेमंद होता है। गर्मियों में आड़ू का सेवन जरुर करें।

नाशपाती के सेवन से मिलेगा लाभ

विटामिन से भरपूर नाशपाती से भी शरीर को बड़े फायदे होते हैं। इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर को इंफेक्शन से लड़ने की ताकत देते हैं। बरसात के  मौसम में बीमार पड़ने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। ऐसे में नाशपाती शरीर के लिए बड़ी फायदेमंद साबित होगी।

मानसून में इन सभी फलों का सेवन करते हुए आप मानसून में होने वाली कई तरह की बीमीरियों से बच सकते हैं।

Read Also | वजन को तेजी से कम करे खीरा Detox Water, जानिए बनाने की विधि और अन्य 5 फायदे

Lipstick Side Effects: लिपस्टिक खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान, वरना हो सकती हैं गंभीर समस्याएं

0
Lipstick Side Effects in Hindi
लिपस्टिक खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान

Lipstick Side Effects: होंठों पर हल्की सी लिपस्टिक आपके चेहरे की खूबसूरती को बढ़ा देती है। इसलिए अधिकतर लड़कियों को लिपस्टिक लगाना पसंद होता है। कई महिलाएं अपने ड्रेस और स्टाइल के हिसाब से लिपस्टिक का शेड्स चुनती हैं। मार्केट में आपको एक ही कलर के कई शेड्स मिल जाते हैं, जो महिलाओं को अपनी ओर आकर्षित भी करते हैं। लिपस्टिक या अन्य कोई मेकअप प्रोडक्ट आपकी खूबसूरती को बढ़ाते हैं, लेकिन ये प्रोडक्ट आपके लिए उतने ही हानिकारक (Beauty Product Side Effects) भी हैं। खासतौर पर लिपस्टिक हमारे लिए काफी ज्यादा नुकसानदायक होता है। क्योंकि इसे हम अपने लिप्स पर लगाते हैं, जिसकी वजह से इसमें मौजूद केमिकल्स हमारे मुंह के अंदर डायरेक्ट जाती है। इसलिए जब भी आप मार्केट से लिपस्टिक खरीदने जाएं, तो कुछ खास बातों का जरूर ध्यान रखें। चलिए जानते हैं उन खास बातों के बारे में-

क्यों लिपस्टिक होता है हमारे लिए नुकसानदेय? (Side Effects of Lipstick)

लिपस्टिक में कई तरह के केमिकल पदार्थ मिले होते हैं, जिसका सीधा असर हमारे शरीर पर पड़ता है। इसमें कैडमियम, मैंगनीज और एल्युमिनियम जैसे पदार्थ एक साथ शामिल किए जाते हैं। ऐसे में जब लिपस्टिक लगाकर खाना खाते हैं, तो यह सीधे हमारे मुंह में जाती है। जो हमारे लिए काफी हानिकरक होती है। इन केमिकल्स से सेहत को कई तरह के नुकसान (Lipstick Side Effects) हो सकते हैं।

लिपस्टिक के केमिकल्स से सेहत को होने वाले नुकसान

दरअसल, लिपस्टिक में लेड की अधिकता होती है, जिसके कारण इससे हार्ट और हाइपरटेंशन जैसी बीमारियां होने का खतरा काफी ज्यादा रहता है। इसके अलावा इसमें कई तरह के प्रिजर्वेटिव मौजूद होते हैं, जो सेहत के लिए नुकसानदेय हैं। एक्सपर्ट की मानें तो लिपस्टिक में पैराबीन नामक प्रिजर्वेटिव होता है, जिसके कारण आपको लिप्स कैंसर (Lips cancer) होने का खतरा रहा है। साथ ही इससे महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर (Breast cancer) होने का खतरा भी काफी ज्यादा रहता है। इसके अलावा इसमें ऑक्सीक्लोराइज नामक प्रिजर्वेटिव होता है, जिसके कारण आप गंभीर रूप से बीमार पड़ सकते हैं। इस प्रिजर्वेटिव से कई लोगों को एलर्जी होती है। एक्सपर्ट का कहना है कि अगर आप प्रेग्नेंट हैं, तो लिपस्टिक का यूज (Lipstick Side Effects) न के बराबर करें।

लिपस्टिक खरीदते वक्त रखें इन बातों का ध्यान

1. कभी भी सस्ती लिपस्टिक न खरीदें। हमेशा हर्बल और ब्रांडेड लिपस्टिक लें। इससे साइड-इफेक्ट होने का खतरा तुलनात्मक रूप से कम होता है।
2. लिपस्टिक खरीदते समय उसमें मौजूद हानिकारक केमिकल्स के बारे में जरूर पढ़ें।
3. डार्क शेड्स की लिपस्टिक खरीदने से बचें। क्योंकि इसमें ज्यादा केमिकल होने का खतरा रहता है।
4. अपने लिप्स पर लिपस्टिक लगाने से पहले पेट्रोलियम जेली या फिर लिप बाम जरूर लगाएं। इससे लिपस्टिक का साइड-इफेक्ट कम होगा।

ध्यान रखें कि स्किन पर लगाने वाली हर चीज का पहले पैच टेस्ट जरूर करें। ताकि उससे होने वाले नुकसान से आप पहले ही आगाह हो जाएं। अगर आपको उससे किसी भी तरह की एलर्जी है, तो उसका इस्तेमाल न करें। इससे आप खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

Read Also : शख्त और बेजान स्किन से पाना चाहते हैं छुटकारा, तो अपनाएं ये घरेलू टिप्स


Read More Articles on Grooming Tips in Hindi

Heat Rash Home Remedies: जानिए घमोरियों से निजात पाने का बेहद आसान घरेलू उपाय

0

Home remedies for  Heat rash: गर्मीं तो हर साल पड़ती है। लेकिन बढ़ते प्रदूषण और दूषित हवा के कारण तरह-तरह की बिमारियां भी फैल रही हैं। हालांकि गर्मियों के मौसम में घमोरियों का होना एक आम समस्या है, अगर इसका समय रहते ध्यान ना दिया जाए तो इससे आपकी त्वचा में कई तरह के इंफेक्शन हो सकते हैं औऱ इसके साथ ही शरीर के कई हिस्सों में अनचाहे निशान भी रह जाते हैं। इसलिए अगर आपको भी घमोरियां परेशान कर रही हैं, तो हेल्थ खबर के इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े औऱ घमोरियों से निजात पाने के सभी तरीके जानें।

क्या हैं घमोरियां (What is Heat rash)

घमोरियां ज्यादातर पेट, गले और पीठ पर ही होती हैं। यह एक प्रकार के छोटे रैश होते हैं, जो रंग में लाल होते हैं। गर्मियों के मौसम में अक्सर धूल मिट्टी के कारण पसीने की ग्रंथियों का मुंह बंद होने के कारण ही घमोरियां होती हैं। घमोरियां अक्सर कपड़ों की सिलवटों की जगह या तंग कपड़ों में होती हैं।

Read Also | मसल टेंशन को करना है दूर, करें ये सिंपल से 3 स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

क्या है घमोरियों के होने का असली कारण (Causes of Heat Rash)

  • पसीना शरीर को ठंडा करने का नेचुरल तरीका है, पसीने का निर्माण पसीने की ग्रंथियों में होता है। यह ग्रंथियां पूरे शरीर को रेखाबद्ध करती हैं औऱ मस्तिष्क में तापमान नियंत्रण केंद्रों द्वारा नियंत्रित होती हैं। ग्रंथि में पसीना एक वाहिनी द्वारा त्वचा की सतह तक जाता है।
  • घमोरियां तब होती हैं जब पसीने की नलिकाएं बंद हो जाती हैं और पसीना त्वचा की सतह तक नहीं पहुंच पाता बल्कि त्वचा की सतह के नीचे फंस जाता है। जिससे हल्की सूजन या दाने हो जाते हैं।
  • घमोरिया त्वचा का एक ऐसी स्थिति है जो अक्सर बच्चों और युवाओं को गर्म, आर्द्र मौसम की स्थिति में प्रभावित करती हैं। जब आपके रोमछिद्र बंद हो जाते हैं और पसीना नहीं निकल पाता तब शरीर में घमोरिया हो जाती हैं।

Read Also | गर्मियों में वजन कम करना है आसान, डाइट में शामिल करें ये सीजनल फूड्स

घमोरियों से बचने के उपाय (Tips to avoid Heat rash)

  • त्वचा को ठंड़क मिलने पर सामान्यत: घमोरिया ठीक हो जाती हैं। इसलिए ठंडे पानी से ही नहाएं।
  • नहाने के बाद त्वचा को पोंछते समय रगड़ें नहीं लेकिन अच्छी तरह से पोंछ कर सुखा लें।
  • ज्यादा टाइट कपड़े नहीं पहनें औऱ अगर धूप में जाना हो तो कॉटन के कपड़े पहन कर जाएं।
  • बच्चों के कपड़ों का चुनाव करते हुए खास ध्यान रखें कि वह ढ़ीसे व आरामदायक हों।
  • शरीर के अंदरुनी हिस्सों का विषेश ध्यान दें। इन्हें सुखाकर ही टेलकम पाउडर छिड़कें
  • दिन में कम से कम 8-10 ग्लास पानी पिएं और छोटे बच्चों को भी तरल पदार्थ का सेवन करवाएं।
  • अगर समस्या ज्यादा हो तो ऑयली फूड खाना छोड़ दें।
  • नीम की पत्तियो को पानी में उबालकर उसे ठंडा कर के उसमें नहाएं।
  • अगर घरेलू उपायों से आराम ना मिले तो किसी भी स्किन स्पेशलिस्ट की सलाह जरुर लें।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

Chia Seeds for Weight Loss: वजन घटाने में कारगर है चिया सीड्स, खाते समय इन बातों का रखें ध्यान

0
Chia Seeds for weight loss
वजन घटाने में कारगर है चिया सीड्स

Chia Seeds for Weight Loss: चिया बीज को विज्ञान की भाषा में साल्विया हर्पेनिका (Salvia Hispanica) के नाम से जाना जाता है। ये बीज मुख्य रूप से मैक्सिको में पाए जाते हैं। ये बीज ओमेगा-3 फैटी एसिड, फाइबर, प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट और कैल्शियम से भरपूर होते हैं। यही कारण है कि चिया बीज को सुपरफूड की श्रेणी में रखा गया है। चिया के बीज काले, सलेटी और सफेद रंग के होते हैं। छोटे से दिखने वाले चिया के बीज असल में गुणों का भंडार हैं। यह शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने के साथ-साथ कई बीमारियों के लक्षणों को कम करने में भी मदद कर सकते हैं। हां, अगर कोई गंभीर रूप से बीमार हैं, तो ऐसे में मेडिकल ट्रीटमेंट से बेहतर कुछ नहीं है। अपने आज के आर्टिकल में हम आपको चिया बीज के फायदे औऱ नुकसान बताएंगे। ताकि चिया सीड (Chia Seeds Benefits) को खाने से पहले आपको उसके सभी गुणों का पता चल सके।

क्या चिया बीज से वजन घटता है ? (can chia seeds help in weight loss)

वजन घटाने में चिया के बीज कई तरीके से फायदेमंद हो सकते हैं। इसमें कई ऐसे गुण मौजूद हैं जिनसे वजन घटाने में मदद मिलती है।

1. एंटीऑक्सीडेंट युक्त (Antioxidants Containing)

चिया के बीज एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इसे शरीर को स्वस्थ रखने, बीमारियों को कम करने और बढ़ते वजन को नियंत्रित करने के लिए कारगर माना जाता है। दरअसल, चिया के बीज में एंथोसायनिन नामक फ्लेवोनोइड होता है, यह एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव दिखाता है और वजन कम करने में सहायक माना जाता है। इससे शरीर में जमी चर्बी यानी एडिपोस (वसा जमा करने वाले) टिश्यू को कम किया जा सकता है।

Read Also | वजन कम होने से हो सकती हैं कई समस्याएं, इन तरीकों से बढ़ाएं अपना वजन

2. प्रोटीन से भरपूर (Protein Rich)

चिया के बीज वजन घटाने में मददगार हैं क्योंकि इसमें भारी मात्रा में प्रोटीन मौजूद रहता हैं। रिसर्च बताती हैं कि चिया जैसे प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ शरीर के वसा को कम करके पूरी बॉडी के वजन को घटाने में मददगार हो सकते हैं। इस बात को साबित करने के लिए अधिक प्रोटीन और कम प्रोटीन का सेवन करने वाले दो समूह पर अध्ययन भी किया गया था। परिणाम स्वरूप अधिक प्रोटीन का सेवन करने वालों का वजन दूसरे ग्रुप की तुलना में तेजी से घटता हुआ पाया गया था।

3. एनर्जी लेवल को बढ़ाए (Raise Energy Level)

चिया के बीज एनर्जी का अच्छा स्रोत माने जाते हैं। बताया जाता है कि शरीर में ऊर्जा का लेवल अच्छा या संतुलित होने से वजन को नियंत्रित किया जा सकता है। एक रिसर्च में कहा गया है कि शरीर में एनर्जी लेवल अच्छा होने से वजन बढ़ने का खतरे कम हो सकता है। शोध में यह भी स्पष्ट किया गया है कि ऊर्जा से बढ़ते वजन का इलाज नहीं होता, लेकिन वजन बढ़ने का जोखिम जरूर कम हो सकता है। शरीर में उच्च ऊर्जा प्रवाह होने से इंसान शारीरिक रूप से सक्रिय हो जाता है

4. फाइबर युक्त (Fiber Contained)

चिया के बीज में फाइबर भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इससे संबंधित एक शोध के अनुसार, चिया के बीज में अलसी के बीज अमरनाथ, बादाम के बीज, क्विनोआ, सोयाबीन और मूंगफली के मुकाबले काफी ज्यादा फाइबर होता है। यह फाइबर भोजन करने के बाद तृप्ति का एहसास देता है। इससे बार-बार भूख लगने की समस्या नहीं होती और वजन घटाने में मदद मिल सकती है।

5. लेप्टिन हार्मोन (Lepton Hormone)

लेप्टिन एक तरह का तृप्ति हार्मोन होता है, जो भूख को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। बताया जाता है कि प्रोटीन का सेवन करने से लेप्टिन हार्मोन की गतिविधि को बढ़ाने में सहायता मिल सकती है। हम ऊपर बता ही चुके हैं कि चिया के बीज में प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है। इस आधार पर कहा जाता है कि यह लेप्टिन की एक्टिविटी को बढ़ाकर भी वजन कम करने में मदद कर सकता है। यह लेप्टिन की एक्टिविटी को बढ़ाकर भी वजन कम (Weight Loss) करने में मदद कर सकता है।

वजन कम करने के लिए ऐसे करें चिया सीड का उपयोग (How to use chia seeds for weight loss)

वजन कम करने के लिए चिया के बीज का स्तेमाल कई तरीकों से किया जाता है। अनेकों गुणों से भरपूर चिया के बीज अच्छी सेहत के साथ-साथ वजन नियंत्रित करने में भी कारगर है। नीचे बताए गए किसी भी तरीके के जरिए आप चिया सीड खा सकते हैं।

Read Also | डबल चिन को घटाने का सबसे आसान तरीका

  • चिया सीड से आइस टी बनाई जा सकती है।
  • चिया सीड की पुडिंग भी बनाई जा सकती है।
  • खाना खाते वक्त सलाद में भी चिया सीड मिलाकर खाए जा सकते हैं।
  • नार्मल रोटी बनाने या फिर पैन केक बनाने में भी चिया के बीजों का प्रयोग किया जा सकता है।
  • ड्राई फूट्स की मिठाई बनाते समय उसमें चिया सीड मिलाए जा सकते हैं।

चिया सीड खाते वक्त इन बातों का रखें ध्यान (Keep these things in mind while eating chia seeds)

चिया के बीज शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए काफी फायदेमंद होते हैं, लेकिन इसका ज्यादा सेवन करने से कई नुकसान हो सकते हैं। आर्टिकल में आगे हम आफको चिया के बीज से होने वाले नुकसान के बारे में बताएंगे।

  • कुछ संवेदनशील लोगों को चिया सीड्स से एलर्जी हो सकती है।
  • चिया के बीज से ब्लड ग्लूकोज कम हो सकता है।
  • जिन्हें ब्लड पेशर की समस्या हो उनका ब्लड सर्क्युलेशन कम हो सकता है।
  • चिया सीड्स का ज्यादा सेवन पेट दर्द और पेट की फूलने की समस्या पैदा कर सकता है।
  • चिया के बीज के ज्यादा सेवन से शरीर में खून पतला होने की शिकायत हो सकती है।

सही मात्रा में चिया सीड्स खाने के फायदे (Benefits of eating chia seeds in right quantity)

  • बढ़ते बजन को घटाने में चिया के बीज फायदेमंद हो सकते हैं।
  • अगर रोजाना सही मात्र में चिया के बीजों का सेवन किया जाए तो स्वस्थ्य रहने और वजन घटाने में मदद मिल सकती है। इसके साथ ही शरीर की इम्यूनिटी भी बढ़ती है।
  • चिया के बीज सले डायबिटीस की परेशानी कम हो सकती है। (डाक्टर की सलाह पर)

Read Also | लंबे समय से वजन घटाने की कर रहे हैं कोशिश? कहीं आप तो नहीं कर रहे ये गलतियां

चिया सीड के खाने का सही समय (Best time to eat chia seeds)

  • सुबह के वक्त 6:45-7:15 के बीच एक केला और चिया सीड डालकर बनाया हुआ ओटमील के साथ एक कप ग्रीन टी का सेवन करें।
  • सुबह 10-10:30 के बीच में आपको एक अंडा या एक गिलास घर में बने हुए ताजे जूस का सेवन करना है।
  • दोपहर 12:30-01 बजे के बीच बीज मिला हुआ टोफू और खीरे का सलाद, एक कप छाछ, दो राटी, एक कटोरी चावल, एक कटोरी दाल, मटर,मशरुम या आलू की सब्जी का सेवन करें।
  • खाने के बाद 3 बजे तक एक कप डिया के बीज को मिलाकर बनाई गई आइस टी या फिर चिया से वने हुए बिस्कुट
  • रात को 6:30-07 बजे के बीच ग्रील्ड चिकन या पनीर के साथ एक या दो राटी,आधा चम्मच चिया के बीज और रात को सोने पहले एक गिलास दूध का सेवन करें।

Read More Articles on Diet & Fitness Tips in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

Get Rid of Double Chin: डबल चिन को घटाने का सबसे आसान तरीका

2
Get Rid of Double Chin
जानें डबल चिन कम करने की एक्सरसाइज और घरेलू उपाय

Get Rid of Double Chin: बॉडी के किसी भी हिस्से में कोई परेशानी दिखाई पड़ती है तो हमें फिक्र होने लगती है। खासकर जब यह समस्या चेहरे से जुड़ी हुई हो। दरअसल बच्चों के चेहरे पर गोल-मटोल चेहरे खूबसूरत लगते हैं, लेकिन बड़े होने के बाद अगर चेहरे पर सामान्य से अधिक मोटापा दिखने लगे असहज महसूस होने लगता है। वैसे तो व्यक्ति क कोई भी कद हो,कोई भी रंग हो या बॉडी की कोई भी शेप हो हर व्यक्ति बेहद खूबसूरत होता है।

प्रत्येक शरीर कद और रंग की कुछ खासियत होती हैं। लेकिन अनियंत्रित खानपान या किसी शारीरिक समस्या के कारण शरीर पर जमने वाला एक्सट्रा (Extra Fat) फैट पेट के साथ-साथ चेहरे पर भी नजर आने लगता है। खासकर, जबड़े के आसपास अधिक चर्बी जमा हो जाने से चेहरा भारी और भद्दा दिखता है। यह आकर्षक व्यक्तित्व को बिगाड़ने के लिए काफी होता है। खूबसूरती को लेकर सजग रहने वालों के लिए यह एक गंभीर समस्या है, जिसे डबल चिन (ठुड्डी) कहा जाता है। “माई हेल्थ खबर, के इस आर्टिकल में हम आपको डबल चिन की समस्या से जल्द छुटकारा पाने के तरीके बताएंगे।

डबल चिन क्या है और इसके होने के कारण (What is Double Chin and its Causes)

किसी भी परेशानी को दूर करने के लिए पहले उसके होने का कारण स्पष्ट कर लेना चाहिए ताकि उसका सही और प्रभावी उपचार किया जा सके। इसी तरह से डबल चिन को ठीक करने के लिए आपके लिए भी यह जानना बेहद जरुरी है कि डबल चिन क्या है और इसके होने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं।

Read Also: वजन कम होने से हो सकती हैं कई समस्याएं, इन तरीकों से बढ़ाएं अपना वजन

डबल चिन क्या है (What is Double Chin)

डबल चिन ठुड्डी के नीचे जमा होने वाली एक्सट्रा चर्बी है, जो नेचुरल फेस क्रीज से अलग नजर आती है। यह एक सामान्य स्थिति है, जिसके परिणामस्वरूप ठुड्डी के नीचे फैट की एक परत बन जाती है। भले ही डबल चिन की समस्या वजन बढ़ने से जुड़ी हो, लेकिन जरूरी नहीं कि जिनका वजन अधिक है, सिर्फ उन्हें ही यह समस्या होती है दरअल डबल चिन की समस्या सामान्य वजन वाले व्यक्ति को भी हो सकती है।

डबल चिन होने का कारण (Causes of Double Chin)

  • जिनके माता-पिता या परिवार में किसी को डबल चिन की समस्या रही हो, तो उन्हें भी डबल चिन का सामना करना पड़े सकता है। डबल चिन किसी भी व्यक्ति को और किसी भी उम्र में हो सकती है।
  • जैसे-जैसे किसी व्यक्ति की उम्र बढ़ती है त्वचा में ढ़ीलापन हो सकता है और जिसके कारण डबल चिन की समस्या हो सकती है ।
  • वजन बढ़न से चेहरे की आसपास की त्वचा में फैट जमा होने से त्वचा में खिंचाव आ सकता है, जिससे चेहरे पर डबल चिन नजर आ सकती है।
  • कभी-कभी मेडिकल कंडिशन  के चलते कुछ परिस्थिति ऐसी बन जाती है, जिसमें घाव या अन्य कारणों से त्वचा पर सूजन आ जाती है। यह भी डबल चिन की समस्या हो सकती है।

ऐसे कम कर सकते हैं डबल चिन (How to get rid of double chin)

डबल चिन चेहरे के आसपास एकत्र हुआ फैट होता है। जिसे दूर करने के लिए आपको आर्टिकल में बताई गई एक्सरसाइज करनी है। ऐसा करने से बहुत जल्द आपको डबल चिन से छुटकारा मिल जाएगा।

एक्स (X) ओ (O)

  • एक्स-ओ एक्सरसाइज करने के लिए आपको मुंह खोलकर एक्स और ओ का उच्चारण करना है। यह अभ्यास बेहद आसान है। इसको करने से चिन में जमा एक्स्ट्रा फैट कम होगा।
  • इसको बारह बार दोहराते हुए 3 सेट करें।

टंग प्रेस (Tongue Press)

Tongue Press Exercise for Double Chin

 

  • ठुड्डी से एक्सट्रा फैट हटाने के लिए यह व्यायाम किया जा सकता है। इसमें जीभ से मुंह के ऊपरी हिस्से को दबाना है और सिर को आगे-पीछे करना होता है।
  • इसको 5 बार दोहराते हुए इसके तीन सेट करें।

साइड नेक स्ट्रेच (Side Neck Stretch)

Side Neck Stretch

  • सीधे बैठें और अपनी गर्दन को दोनों तरफ जितना हो सके स्ट्रेच करें। यह व्यायाम डबल चिन की समस्या से दूर करने में काफी मदद कर सकता है।
  • इसी मुद्रा में इसे 10 बार करें।

Read Also: बिना जिम के घर में इन तरीकों से अपना हिप्स साइज करें कम

किस द सीलिंग (Kiss the ceiling)

Kiss the Ceiling for double chin

  • इस एक्सरसाइज को करने के लिए अपने सिर को पीछे की ओर झुकाएं और मुंह को ‘ओ’ आकार में बनाएं, जैसे कि आप छत को चूम रहे हैं। इससे आपकी ठुड्डी की मांसपेशियों अच्छे से काम करेंगी और फैट बर्न करने में मदद मिलेगी।
  • इसको आप 5 स 10 बार कर सकते हैं।

नेक रोटेशन (Neck Rotation)

Neck rotation

  • इस व्यायाम में गर्दन को गोल-गोल घुमाना होता है, ताकि ठुड्डी और जबड़े की मांसपेशियां हिलें। डबल चिन को कम करने के लिए आप यह व्यायाम कर सकते हैं।
  • इस एक्सरसाइज को 10 बार दोहराएं।

स्टिक टंग आउट (Stick Tongue Out)

Stick Tongue Out

  • जीभ को जितना हो सके बाहर लाएं और इसे एक तरफ से दूसरी तरफ घुमाएं। इस प्रक्रिया से भी डबल चिन की समस्या से निजात पाया जा सकता है।
  • यह एक्सरसाइज आप 12 सेकंड तक 2 बार करें।

इन घरेलू उपायों को भी अपनाएं (Home remedies for double chin removal)

मालिश (Massage)

Massage for Double Chin

मालिश के जरिए भी डलब चिन (Get Rid of Double Chin) की समस्या से दूर किया जा सकता है। इसके लिए अपनी ठुड्डी के नीचे की त्वचा की मालिश कर सकते हैं। मालिश करने से त्वचा में आया ढीलापन कुछ हद तक ठीक हो सकता है। माना जाता है कि मालिश करने से जबड़ों में रक्त का संचार बेहतर होता है और अतिरिक्त फैट के कटने लगता है।

जैतून का तेल (Olive Oil)

  • जैतून का तेल लें (आवश्यकतानुसार)
  • जरूरत के हिसाब से जैतून का तेल लें और हल्का गर्म कर लें।
  • अब ठुड्डी के आसपास और गले पर आराम से मालिश करें।
  • रात भर या एक-दो घंटों के लिए तेल को लगा रहने दें और बाद में पानी से धो लें।
  • रोजाना एक बार यह प्रक्रिया दोहराएं।
  • जैतून के तेल में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन-ई (अल्फा-टोकोफेरॉल) से होता है। ये दोनों गुण त्वचा को पोषित करने के साथ-साथ किसी भी तरह के नुकसान से भी बचाते हैं। इसके अलावा, भोजन में भी जैतून के तेल का प्रयोग कर अतिरिक्त चर्बी को घटा कर डबल चिन की समस्या को कुछ कम किया जा सकता है। अभी इस संबंध में और शोध किया जा रहा है।

Read Also: नींबू पानी में मिलाएं ये 1 चुटकी काला नमक, कुछ ही दिनों में आपकी तोंद हो जाएगी कम

ग्रीन टी (Green Tea)

Green Tea Benefits

  • एक चम्मच ग्रीन टी
  • एक कप गर्म पानी
  • शहद
  • एक कप गर्म पानी में एक चम्मच ग्रीन टी डालें।
  • मिनट के बाद चाय छान लें।
  • अब इसमें शहद मिलाएं और धीरे-धीरे पिएं।
  • रोजाना तीन बार ग्रीन टी का सेवन किया जा सकता है।
  • डबल चिन की समस्या में ग्रीन टी का स्तेमाल किया जाता सकता है। इसमें कैटेचिन पाया जाता है, जो ग्रीन टी को एंटीऑक्सीडेंट और वजट घटाने के गुण से समृद्ध बनाता है। वहीं, डबल चिन (How to Get Rid of Double Chin) होने का एक कारण अतिरिक्त वजन को भी माना जाता है। इसलिए, हम मान सकते हैं कि ग्रीन टी का सेवन कर वजन कम किया जा सकता है, जिससे डबल चिन की समस्या कुछ कम हो सकती है।

ऑयल पुलिंग (Oil Pulling)

  • एक चम्मच नारियल या शीशम का तेल
  • नारियल या शीशम का तेल थोड़ी देर मुंह में रखें।
  • अंदर ही अंदर तेल को घुमाएं।
  • फिर 10 से 12 मिनट बाद थूक दें।
  • रोजाना एक बार ब्रश करने से पहले करें।
  • ऑयल पुलिंग ओरल हेल्थ के साथ-साथ शरीर के डिटाक्सिफिकेशन के लिए भी अच्छा होता है। इस तरीके को अपनाने से चेहरे पर जमा हुआ एक्स्ट्रा फैट कम हो जाता है।

च्विंगम (Chewing Gum)

Chewing Gum for Double Chin

  • च्विंगम भी डबल चिन से निजात पाने का बेहतरीन उपाय हो सकता है। च्विंगम चबाना एक व्यायाम की तरह है, जो चेहरे और ठुड्डी पर मौजूद अतिरिक्त फैट को हटाने में मदद करता है। फिलहाल, इस विषय पर कोई शोध उपलब्ध नहीं है।

Read Also: पेट को करें फ्लैट और बनायें सिक्स पैक एब्स, फॉलो करें ये 4 प्लैंक एक्सरसाइज

खरबूजा (Muskmelon)

Musk Melon

  • आधा कप कटा हुआ खरबूजा
  • कॉटन पैड
  • कटे हुए खरबूजे को पानी (आवश्यकतानुसार) के साथ मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब कॉटन पैड की मदद से इसे ठुड्डी और गले पर लगाएं।
  • 30 मिनट तक पेस्ट लगा रहने दें और बाद में पानी से धो लें।
  • रोजाना एक बार यह प्रक्रिया दोहराएं।
  • डबल चिन की परेशानी को दूर करने के लिए खरबूजा फायदेमंद हो सकता है। इसमें फाइटोकेमिकल्स, एंटीऑक्सीडेंट, विटमिन, मिनरल्स और फाइबर होता है। खरबूजे के ये सभी गुण मोटापा घटाने में मदद कर सकते हैं।

डबल चिन कम करने के लिए खाने में इन चीजों को करें शामिल

आहार

क्या खाएं

सुबह उठते ही 6:30-7:30 (बजे के बीच) एक कप मेथी का पानी
नाश्ता 7:30-8:30 (बजे के बीच) मूंग दाल के दो चीले एक कप ग्रीन टी और 4 बादाम
ब्रंच 10-10:30 (बजे के बीच) एक कटोरी कोई भी मौसमी फल
दोपहर का खाना 12:30-01 (बजे के बीच) 3 रोटी,थोड़े चावल,थोड़ी दाल,1 कटोरी सब्जी,1 कटोरी दही
शाम का नाश्ता 3:30-04 (बजे के बीच) 1 कप नारियल पानी,आधा कटोरी अंगूर य़ा तरबूज खा सकते हैं
रात का खाना 07-7:30 (बजे के बीच) 2 रोटी आधा कटोरी मशरुम/टोफू/चिकन करी और आधा कप उबले हुए पालक/ब्रोकली
रात 9:30-10 (बजे के बीच) 1 गिलास हल्दी डाला हुआ दूध

डबल चिन को हटाने के अन्य विकल्प (Other options to get rid of double chin)

  • डबल चिन से छुटकारा पाने औऱ भी कई तरीके हैं। जिनके जरिए डबल चिन को हटाया जा सकता है।
  •  दरअसल लिपोसक्शन ट्रंसफर (Submental Fat Liposuction) को डबल चिन हटाने की बेहतर बनाने की पारंपरिक तकनीक कहा जाता है। इसके साथ ही कई तरह की थेरेपी के जरिए भी डबल चिन हटाया जाता है। डबल चिन की समस्या का एक कारण शरीर में ज्यादा चर्बी का जमा होना माना जाता है। इसलिए, वजन को कम करके भी डबल चिन को आसानी से हटाया जा सकता है।
  • अच्छी मुद्रा का अभ्यास करें,रोजाना व्यायाम करें,कैलोरी सेवन को सीमित करें,फैट खत्म करने वाले भोजन जैसे ओट्स, नट्स और अंडे का सेवन करें। अगर नियमित रूप से इन उपचारों और व्यायाम को किया जाए, तो डबल चिन की समस्या से निजात पाया जा सकता है औऱ आप किसी भी सर्जरी की मदद लिए बिना डबल चिन से छुटकारा पा सकते हैं।

Read More Articles on Womens Health in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

Weight Gain Tips: वजन कम होने से हो सकती हैं कई समस्याएं, इन तरीकों से बढ़ाएं अपना वजन

1
Weight Gain Tips in Hindi

Weight Gain Tips: लाइफ की इस भागदौड़ में कई तरह की शारीरिक परेशानियां होती रहती हैं। घटते वजन की समस्या भी उन्हीं में से है। आज के समय में ज्यादातर लोग तो ऐसे हैं जो जॉब और करियर के लिए घर से दूर रहते हैं। काम में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि देखते ही देखते उनके वजन कमीं आने लगती है। लेकिन तेजी से घटता वजन अच्छे स्वास्थ्य के संकेत नहीं देता है। एक हेल्दी बॉडी (Healthy Body) के लिए आयु और हाइट के मुताबिक वजन होना जरुरी होता है। अगर व्यक्ति का वजन हाइट और उम्र के हिसाब से ज्यादा हो या फिर कम हो तो दोनों ही स्थिति में बात चिंता की ही है क्योंकि जिस तरह से ज्यादा वजन वाला शरीर बीमारियों  का घर होता है, उसी तरह तेजी से घटता वजन भी शारीरिक क्षमता को घटाता है। जिससे कई तरह की परेशानियां सामने आ सकती हैं। ऐसी कई रिसर्च भी सामने आ चुकी हैं जिसमें तेजी से घटते वजन को खतरनाक बताया गया है। ऐसे में अगर आपका वजन भी घट रहा है और आप वजन बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं तो हमारे बताए जाने वाले रुटीन को लगातार फॉलो करें, इसका रिजल्ट बेहद असरदार होगा।

घटते वजन से होने वाली परेशानियां (Weight Loss Problems)

  1. जब किसी व्यक्ति का (महिला,पुरुष) वजन घटने लगता है तो वह शारीरिक रुप से कमजोर नजर आते हैं, इसके साथ ही उनका व्यक्तित्व भी आकर्षक नहीं लगता है।
  2. घटते वजन के कारण व्यक्ति तनाव का शिकार हो जाता है। जिससे चिड़चिड़ा स्वाभाव हो जाता है।
  3. तेजी से घटता वजन शरीर में कई तरह की बिमारियों को बुलावा देता है। इसके साथ ही शरीर कमजोर होने की वजह से किसी भी बिमारी से रिकवर होने के लिए अधिक समय लग सकता है।
  4. घटते वजन के कारण व्यक्ति का आत्मविश्वास कम हो जाता है औऱ वह ज्यादा टाइम अपने लुक्स (Looks) के बारे में सोचता रहता है।
  5. शरीर में कमजोरी के कारण पेट से जुड़ी कई गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं।

Read Also: बिना वर्कआउट किए कुछ ही दिनों में वजन करें कम, बस घर पर करें ये 5 आसान से काम

वजन बढ़ाने के लिए क्या करें? (What to do to Weight Gain)

  1. पतले-दुबले लोगों को अक्सर यह कहते सुना जाता है कि हमें मॉर्निंग (Morning walk) वॉक, योग व अन्य किसी तरह की शारीरिक क्रिया की जरुरत नहीं है क्योंकि हम तो पहले ही पतले हैं। यह धारणा पूरी तरह से गलत है।
  2. योग, एक्सरसाइज (Exercise, Yoga) और सुबह की सैर सभी के लिए बहुत जरुरी है। ऐसा करने से ना सिर्फ आपकी भूख बढ़ती है, इसके साथ ही शरीर सभी बिमारियों से भी दूर रहता है। बच्चों से लेकर युवा औऱ बुजुर्ग सभी के लिए योग व्यायाम लाभकारी है।

ऐसे बढ़ेगा वजन (5 Weight Gain Tips)

  1. वजन बढ़ाने की शुरुआत करने के लिए सबसे पहले मॉर्निंग वॉक पर जाना होगा। सुबह जल्दी उठना शरीर को रोग मुक्त बनाता है।
  2. हर रोज 20-25 मिनट के लिए योग,व्यायाम करें, इससे भूख बढ़ती है।
  3. रात को सोने से आधा घंटा पहले फोन यूज (Phone use) करना बंद कर दें, नींद जल्दी आयेगी। 7-8 घंटे की नींद जरुर लें।
  4. नाश्ते से लेकर डिनर (Dinner) तक आपको खाने में विटामिन और मिनरल भरपूर मात्रा में लेना होगा। जिससे की वजन बढ़ने के साथ-साथ शारीरिक क्षमता में भी बढ़ोत्तरी हो।
  5. अगर आप थायराइड (Thyroid) जैसी बिमारी से ग्रसित रह चुके हों तो खान-पान का ध्यान रखने के साथ ही डॉक्टर से भी समय-समय पर सलाह लेते रहें, ताकि अगर आपके दुबलेपन का कारण कोई बीमारी हो तो समय रहते उसका इलाज हो जाए।

Read Also: बिना जिम के घर में इन तरीकों से अपना हिप्स साइज करें कम

खाने में किन चीजों को करें शामिल (What to include in Food for weight gain)

  • वजन बढ़ाने के लिए केवल पेट का भरना जरुरी नहीं होता है। इसके लिए जरुरी है कि आप जो खाना खाएं उसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम, कैलोरी, विटामिंस मौजूद हों। अगर आपका वजन कम है तो आप 2000-2200 कैलोरी नियमित रुप से ले सकते हैं। इसलिए अपनी डाइट में ब्रोकली,बंदगोभी,गाजर,पालक व कद्दू को जरुर शामिल करें।
  • जो भी सलाद खाएं उसमें थोड़ा सा जैतून का तेल जरुर डालें। इससे सलाद (Weight Gain Diet & Tips) का स्वाद बढ़ने के साथ ही सलाद में पोषक तत्व भी बढ़ेंगे।
  • हमेशा फुल क्रीम (Full Cream) वाले दूध,दही का प्रयोग करें और भरपूर मात्रा में डेयरी उत्पादों का सेवन करें।
  • सुबह 7-8 बजे के बीच में चीनी के साथ फुल फैट वाले दूध की चाय के साथ कुछ स्नैक्स लें, चाय नहीं पीना हो तो बादाम मिल्क भी ले सकते हैं।
  • 8-9 बजे के बीच में आप दलिया, पोहा, खिचडी, कार्न फ्लैक्स, सब्जी के साथ 2 रोटी या फिर पराठे भी खा सकते हैं।
  • 10-11 बजे के बीच फलों को खाएं, जिसमें केला जरुर शामिल करें। इसके साथ ही आप फुल फैट फिल्क का शेक भी पी सकते हैं। कोशिश करें कि सभी फलों में प्रोटीन की अधिक मात्रा हो।
  • 12:30- 01:30 बजे एक कटोरी सब्जी व दाल के साथ दो रोटियां और एक कटोरी चावल जरुर लें। इसके साथ ही खाने में घी का भी स्तेमाल करें। दोपहर के खाने में सलाद के साथ-साथ एक कटोरी दही जरुर लें।
  • शाम 5:30-6:30 के बीच सब्जियों से बना बटर सूप और पनीर वाला या मेयोनिज वाला सैंडविच भी खा सकते हैं।
  • रात 8:30-9:30 के बीच खाना खा लें। रात के खाने में चावल छोड़कर आप दोपहर की तरह ही अपना पसंदीदा खाना खा सकते है।
  • 10:30-11 बजे के बीच में रोज रात को एक गिलास दूध जरुर पीएं। इससे शरीर में कैल्शियम की कमीं पूरी हो जाएगी।

कैसे मिलेगा फायदा (How to get benefits of foods for weight gain)

  • जब आप खाने में आवश्यकता अनुसार कैलोरी, विटामिन औऱ कैल्शियम (Calcium, Calories, Vitamins)  लेते हैं तो शरीर ज्यादा सक्रिय होता है। इसके साथ ही आप पहले से ज्यादा एक्टिव महसूस करते हैं।
  • हालांकि भोजन में कैलैरी बढ़ाने के नाम पर फास्ट फूड ना खाएं, नहीं तो पेट से जुड़ी परेशानियां हो सकती हैं और इस प्रकार आपका खाने का बना-बनाया रुटीन रुक हो सकता है।
  • वजन बढ़ाने के लिए जरुरत से ज्यादा ना खाएं, बल्कि 1-1 घंटे के ब्रेक में कुछ ना कुछ खाते रहें। इससे आपकी पाचन क्रिया में जोर नहीं पड़ेगा।
  • बार-बार औऱ थोड़ा-थोड़ा खाने से भोजन हजम हो जाएगा और शरीर में जल्द ही असर महसूस होगा।
  • हर रोज एक ही तरह का खाना खाकर आप परेशान हो सकते हैं। इसलिए खाने की नई डिश ढ़ूढ़े जो टेस्टी भी हो और हेल्दी भी हो।
  • कभी फलों की कमीं हो या मन ना हो तो उस दिन आप ड्राई फ्रूट्स भी खा सकते हैं। ब्रेड में बटर की जगह पीनट बटर का प्रयोग कर सकते हैं।
  • सप्लीमेंट (Supplement) लेने से बचे, कोशिश करें कि इसी प्रकार के खाने से ही स्वास्थ्य में सुधार आए। लेकिन फिर भी अगर आपको किसी तरह का प्रोटीन शेक Protein Shake) लेने की जरुरत पड़ती है तो फिर आप डॉक्टर की सलाह लेकर ही सप्लीमेंट का सेवन करें।

Read Also:  गर्मियों में वजन कम करना है आसान, डाइट में शामिल करें ये सीजनल फूड्स

पेट का रखें खास ख्याल (How to take care of Stomach)

  1. वजन बढ़ाने (Weight gain Diet & Tips) की इस पूरी क्रिया में पेट का स्वास्थ्य रहना सबसे ज्यादा जरुरी है। इसलिए ध्यान रखें कि भोजन हेल्दी हो लेकिन उसमें ज्यादा तेल की प्रयोग नहीं किया गया हो।
  2. कई बार तनाव में रहने और नींद पूरी नहीं हो पाने की वजह से पेट जुडी परेशानियां हो जाती हैं, तो अच्छी नींद लेने और तनाव मुक्त रहने के लिए हर रोज ध्यान क्रिया को अपनाएं। ताकि आप पेट की समस्या से बचे रहें।
  3. पेट की पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए आप 3-4 प्रकार के योग कर सकते हैं, जो पेट से जुड़ी परेशानियों से निजात दिलाते हैं।

पेट के योग (Yoga For Stomach)

मत्स्यासन (Matsyasana Yoga Benefits)

इस योग को पेट की सभी परेशानियों का रामबाण इलाज कहा जाता है। इससे पेट की सूजन कम होने के साथ ही पेट का फैट भी कम होता है।

Read Also: कोरोनाकाल में घर पर ही करें योगासन का अभ्यास, फॉलो करें ये टिप्स

धनुरासन (Dhanurasana Yoga Benefits)

धनुरासन पेट की गैस,कब्ज,हाजमा सभी परेशानियों के लिए लाभदायक है। इसके साथ ही यह पीठ दर्द के लिए भी कारगर है।

कपालभाति प्राणायाम (Kapalbhati Pranayama Benefits)

कपालभाति व्यक्ति को तनाव मुक्त करने के साथ-साथ बल्ड सर्कुलेशन को भी ठीक करता है। इसके साथ ही एसीडिटी को दूर करने का बेहद आसान तरीका है।

हलासन (Halasana yoga benefits)

हलासन से पाचन तंत्र और मांसपेशियों को शक्ति मिलती है। इसके साथ ही यह रीढ़ की हड्डी को भी मजबूत बनाता है।

Read Also: बेबी प्लानिंग करने में आ रही है परेशानी, तो इन योगासन से बूस्ट करें अपनी फर्टिलिटी

नौकासन (Naukasana Yoga Benefits)

इस आसन में व्यक्ति की मुद्रा नाव के समान होती है। यह आसन पेट के साथ ही कंधे और कमर दर्द को दूर करने में सहायक होता है।

लगातार फॉलो करें यह सभी स्टेप्स (Regularly follow these steps for weight gain)

घटते वजन को बढ़ाने के लिए आर्टिकल में बताए गए सभी स्टेप्स को करीब 6-7 हफ्तों तक लगातार फॉलो करना पड़ेगा और इसके बाद आप अपना शारीरिक और मानसिक बदलाव खुद महसूस कर पाएंगे।

Read More Articles on Weight Gain Tips

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

 

Hips Size Reduce Exercise: बिना जिम के घर में इन तरीकों से अपना हिप्स साइज करें कम

0
Hip Size Reduce Exercise
इन टिप्स से हिप्स का साइज करें कम

कोरोना काल में लॉकडाउन (Lockdown) ने सभी के लाइफ स्टाइल को बदल कर रख दिया है। रात के खाने से लेकर सोने तक का समय बदल चुका है। जिसका गहरा असर सेहत पर पड़ता है और धीरे-धीरे वजन बढ़ने की समस्या भी होने लगती है। ऐसे में समय पर ध्यान नही दिए जाने पर आपको आने वाले समय में कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए अगर आप भी बढ़ते वजन (Thigh Fat Reduce Tips) का शिकार हो रहे हैं तो समय रहते सतर्क हो जाइए। खासतौर पर अगर आपके हिप्स का साइज (How to Reduce Hips Size) काफी ज्यादा बढ़ रहा है, तो इसे कम करने के लिए इन बातों पर गौर कीजिए…

घर में रह कर भी रहें अनुशासित

लॉकडाउन में भले ही छूट दे दी गई हो, लेकिन अभी भी वर्क फ्रॉम होम (Work from Home) जारी है। जिसके कारण सुबह देर से उठना बड़ी लापरवाही साबित हो रहा है औऱ इसके वजह से पूरी दिनचर्या प्रभावित हो जाती है। समय की कमीं के चलते हम योग, व्यायाम को पूरी तरह से छोड़ कर बैठे हैं। इसके साथ ही तरह-तरह के ऑयली फूड (Oily Food) भी खाते हैं। इसलिए हम आपको बढ़ते वजन के साथ-साथ हिप्स का साइज कम (Butt fat) करने के कुछ खास तरीके बताएंगे। जिसके जरिए आप बिना जिम के ही घर में रहकर अट्रैक्टिव (Attractive Body Shape)  बॉडी शेप पा सकते हैं और मोटापे से होने वाली कई तरह की बिमारियों से भी बच सकते हैं।

Real Also | बिना वर्कआउट किए कुछ ही दिनों में वजन करें कम, बस घर पर करें ये 5 आसान से काम

इन बातों का रखें खास खयाल

  1. बढ़ते वजन को कम करने के लिए डाइटिंग (Dieting) का सहारा नहीं लेना चाहिए। इससे कमजोरी आ जाती है और आए दिन सर दर्द होने लगता है।
  2. बिजी लाइफ स्टाइल (Busy Life Style) को बैलेंस करने की कोशिश करें और मॉर्निग वॉक के साथ हल्की- फुल्की एक्सरसाइज करना शुरु करें।
  3. अगर आप किसी भी तरह की शारीरिक तकलीफ में हों तो उसके लिए अपने किसी करीबी या डॉक्टर से सलाह लें, हर परिस्थिति में अपने आपको तनाव मुक्त रखने की कोशिश करें।
  4. कई बार शरीर के कुछ हिस्सों में ही (पेट, कमर, हिप्स, थाईस) फैट बढ़ता जाता है। जिकसे लिए उसी प्रकार की एक्सरसाइज (Exercise) का चुनाव करें।
  5. हर रोज कम से कम 1 घंटा एक्सरसाइज करें, लेकिन अगर आप इससे ज्यादा शरीर पर जोर देंगे तो थकान के साथ-साथ आपको सुस्ती भी महसूस हो सकती है, इसलिए आवश्यकता से अधिक योग, एक्सरसाइसज से बचें।

हिप्स का साइज कम करने की खास एक्सरसाइज (Special exercises to reduce the size of the hips)

एक्सरसाइज शुरु करने से पहले वार्मअप करना बेहद जरुरी होता है। जिससे कि आप मोच या चोट से बचे रहें।

स्क्वाट्स (Squats)

हिप्स कम करने के लिए स्क्वाट्स एक्सरसाइज बेहद असरदार मानी जाती है। इसे अगर आप नियमित रुप से करते हैं तो रिजल्ट जल्द आपके सामने होगा। स्क्वाट्स एक्सरसाइज जांघ की मांसपेशियों और हिप्स की मांसपेशियां को मजबूत बनाने का काम करती है। इसके साथ ही हिप्स को आकर में लाने में मदद मिलती है।

साइड लांजेस (Side lunges)

Real Also | पेट को करें फ्लैट और बनायें सिक्स पैक एब्स, फॉलो करें ये 4 प्लैंक एक्सरसाइज

साइड लंजेस एक्सरसाइज से पेल्विक और हिप्स की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। साइड लंजेस करते समय सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि अगर यह एक्सरसाइज गलत की गई तो कमर व शरीर के निचले हिस्से में दर्द हो सकता है। हालांकि सही तरीके से करने पर यह हिप्स कम करने के बेहद लाभदायक व्यायाम है।

स्टेयर क्लाइम्बिंग (Stair Climbing)

स्टेयर क्लाइम्बिंग हिप्स की मांसपेशियों का मूवमेंट बढ़ता है और फैट कम करने में मदद मिल सकती है। आप दिन में दो बार सीढ़ियों के लगभग तीन से चार चक्कर लगा सकते हैं। स्टेयर क्लाइम्बिंग हिप्स और थाइस के साथ ही पेट का फैट घटाने में भी कारगर साबित हो सकती है।

स्किप्पिंग रोप (Skipping Rope)

रोजाना 10 Minute रस्सी कूदने से शरीर में Blood सर्कुलेशन सही रहता है। इसके अलावा दिल संबंधी बिमारियों से भी बचाव होता है। 10 मिनट के लिए रस्सी कूदना उतना ही अच्छा है जितना 8 मिनट में एक मील दौड़ना। रस्सी कूदने से हिप्स और थाईस की मांसपेशियां मजबूत होती हैं जबकि शरीर का एक्ट्रा फैट खत्म हो जाता है। रस्सी कूदना एक तरह का फुल बॉडी वर्कआउट है।

ब्रिज एक्सरसाइज (Bridge Exercise)

ब्रिज एक्सरसाइज आपके ग्लूट्स की मांसपेशियों को अलग करता है और मजबूत बनाता है। यह एक्सरसाइज बट और थाईस के अलावा पेट की एक्स्ट्रा चर्बी को भी कम करती है। हालांकि बताई गई सभी एक्सरसाइज को सही तरीके से करना जरुरी है। ताकि आप किसी तरह के शारीरिक दर्द से परेशान ना हो जाएं।

Real Also | मक्खन की तरह पिघलेगी पेट पर जमी चर्बी, शरीर के इन 6 प्वाइंट को करे प्रेश

एक्सरसाइज करने के साथ-साथ इस डाइट प्लान को करें फॉलो (Exercises and Diet plan)

  1. एक गिलास गुनगुने पानी में आधे नींबू का रस मिला कर रोज सुबह पिएं।
  2. खाने में नारियल तेल का प्रयोग करें। यह फैट पचाने में मदद करता है और वजन घटाता है।
  3. एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिला कर पिएं। आप चाहें तो इसमें एक चम्मच शहद भी मिला सकते हैं।
  4. हिप्स की चर्बी कम करने के लिए घरेलू उपाय के रूप में खाना खाने से आधे घंटे पहले ब्लैक कॉफी का सेवन कर सकते हैं।
  5. हिप्स कम करने के घरेलू उपाय के लिए एक कप पीने योग्य गर्म पानी में एक ग्रीन टी बैग को डालें और उसका सेवन करें।
  6. एक दिन में करीब दो से तीन लीटर पानी पिएं।
  7. रात को हल्का खाना खाएं और समय पर सोएं।
  8. खाने में सभी तरह के विटामिंस (Vitamins) शामिल करें।
  9. ड्राई फ्रूट के साथ ही मौसमीं फलों को भी खाएं। (केले को छोड़कर)
  10. नाश्ते में दलिया, सोयाबीन औऱ ब्राउन ब्रेड ले सकते हैं।

4-5 हफ्तों में दिखेगा असर (Result in 4-5 Weeks)

अगर आप अपना वजन वाकई में कम करना चाहते हैं तो बताए गए इन सभी स्टेप्स को नियमित रुप से फॉलो करें और इसका सकारात्मक प्रभाव जल्द ही आपके सामने होगा। अगर किसी कारण आप सुबह के समय में एक्सरसाइज नहीं कर पाते तो शाम को भी कर सकते हैं। इसके साथ ही वजन घटाने कते लिए पानी को कारगर माना गया है। इससे चेहरे से संबंधित परेशानियां तो दूर होंगी ही इसके साथ ही वजन घटाने में आसानी होगी।

Real Also | गर्मियों में वजन कम करना है आसान, डाइट में शामिल करें ये सीजनल फूड्स

वजन घजन घटाने के खास फायदे (Benefits of Weight loss)

  • वजन घटाने से ना सिर्फ इंसान की पर्सनैलिटी (Personality) में निखार आता है, बल्कि शरीर से कई बिमारियां भी दूर होती हैं।
  • सुस्ती दूर होती है, आप ज्यादा खुश रहने के साथ ही फिजिकली (Physically active) भी पहले की तुलना ज्यादा एक्टिव हो जाते हैं।
  • वजन घटने से नजरे तेज होती हैं और याददाश्त भी अच्छी होती है।
  • पेट से जूड़ी सभी परेशानियां दूर होती है और पाचन शक्ति मजबूत होती है।
  • कई बार देखा गया है कि बढ़े वजन के कारण लोग अपनी उम्र से ज्यादा बड़े लगते है। लेकिन अगर आप फिट (Fit) हैं चेहरे और पेट में चर्बी नहीं है तो आप अपनी उम्र से कम ही लगते हैं।
  • घटते वजन के साथ-साथ व्यक्ति का आत्मविश्वास भी बढ़ता है। जिससे आप तनाव मुक्त होने लगते हैं।
  • आज के समय में आप कितनी भी साधारण जीवनशैली में रहते हों लेकिन तरह-तरह के स्टाइलिश (stylish) कपडे पहनने का शौक हर व्यक्ति को होता है, लेकिन कई बार ज्यादा वजन के कारण आप मनपसंद कपड़े नहीं पहन पाते हैं। लेकिन अगर आप थोड़ा समय निकाल कर एक्सरसाइज और डाइट प्लान पर ध्यान देंगे तो खुद को किसी भी तरह के स्टाइल में देख पाएंगे।

Read More Articles on Weight Loss Tips

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Recent Posts

Facebook
Twitter
YouTube
Pinterest
Instagram