गठिया के रोगी इन 3 योगासन से जोड़ों के दर्द से पा सकते हैं छुटकारा

Yoga Poses for Arthritis

Yoga for Arthritis: गठिया की समस्याएं इन दिनों काफी ज्यादा बढ़ रही हैं। गठिया के मरीजों को बारिश में जोड़ों में काफी दर्द होता है। यह दर्द काफी असहनीय होता है। इसके साथ ही मरीजों के जोड़ों में सूजन भी होने लगती है। (Yoga for Arthritis) इतना ही नहीं, जब गठिया की समस्या बढ़ने लगती हैं, तो मरीज को उठने बैठने में भी काफी तकलीफ का सामना करना पड़ता है। मरीजों की इन समस्याओं के कारण दिनचर्या भी काफी प्रभावित होती है। गठिया के लक्षणों को कंट्रोल करने के लिए डॉक्टर्स कई तरह की दवाइयां देते हैं, लेकिन आप गठिया के लक्षणों को योग से भी कंट्रोल कर सकते हैं। योगासन शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। आइए जानते हैं कुछ ऐसे योगासन, जिससे गठिया की समस्याओं को कंट्रोल किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें – पेट की चर्बी को तेजी से करना है कम, तो रोजाना 10 मिनट करें ये योगासन

सुखासन (Sukhasana)

  • इस (Yoga for Arthritis) आसन को करने के लिए सबसे पहले जमीन पर चटाई बिछाकर सीधे बैठ जाएं।
  • अब अपने पैरों को अपने सामने फैलाएं।
  • इसके बाद पैरों को घुटने से मोड़ लें और घुटनों को बाहर की ओर रखें।
  • अपने एक पैर को दूसरे पैर के घुटने के नीचे रखें।
  • हाथों को घुटनों पर रखें और हथेलियों को नीचे की तरफ रखें।
  • कमर, सिर और गर्दन को सीधा रखें। नजरें सामने की ओर रखें।
  • इस स्थिति में 1 मिनट के लिए रहें। अब अपने पैरों की स्थिति बदल लें।

वृक्षासन (Vriksasana)

  • इस आसन से अपनी जांघों, पैरों को टोन कर सकते हैं।
  • पेट की कैलोरी को प्रभावी ढंग से कम कर सकते हैं।
  • खड़े होकर दोनों पैरों के बीच लगभग 3 इंच का फासला बनाएं। दोनों पैरों पर समान वजन रखें।
  • सांस छोड़ते हुए दाएं पैर को मोड़कर पंजे को बाईं जांघ के पिछले हिस्से पर रखें।
  • इस स्थिति में संतुलन बनाए रखने के लिए अपनी आंखों के समानान्तर किसी बिंदु पर ध्यान केंद्रित करें।
  • फिर सांस भरते हुए शरीर को ऊपर की ओर खींचें और दोनों हाथों को आसमान की ओर ले जाएं और नमस्कार की तरह जोड़ें।
  • इस स्थिति में 30 सेकंड तक रुकें। इसके बाद अपनी स्थिति में लौट आएं। करीब 10 से 20 बार इस आसन को दोहराएं।

ये भी पढ़ें – जलती-चुभती घमौरियों से हैं परेशान? अपनाएं ये 6 आसान से घरेलू उपाय

वीरासन (Virasana)

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले समतल भूमि पर योगामैट बिछाएं।
  • इस इसपर बज्रासन की स्थिति में बैठ जाएं।
  • अब अपने दोनों पैरों को थोड़ा फैलाएं और अपने हिप्स को भूमि पर टिकाएं और एक सीध में बैठें।
  • अब अपने दोनों हाथों को घुटनों पर सीधा तानकर रखें।
  • इस दौरान कंधों को आराम की मुद्रा में रखें और तनकर बैठें।
  • सिर को सीधा रखते हुए सामने की ओर देखें।
  • इस मुद्रा में करीब 30 सेकेंड के लिए रुकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Twitter
YouTube
Pinterest
Instagram