सैनिटाइजर का अधिक इस्तेमाल पड़ सकता है भारी, जानें इससे होने वाले नुकसान

1
242
Side Effects of Hand Sanitizer
Side Effects of Hand Sanitizer

Hand Sanitizer Side Effects: कोरोनावायरस का पूरी तरह से सफाया करने वाली दवा अबतक नहीं बनीं। इसलिए इस वायरस से बचने के लिए एक ही तरीका बचा है, वह है साफ-सफाई का। ऐसे में लोग अपने हाथों को साफ रखने के लिए (Hand Sanitizer Side Effects) सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं। सैनिटाइजर के इस्तेमाल से हाथ की सफाई अच्छे तरीके से की जा सकती है। कई एक्पसर्ट्स द्वारा भी सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने की सलाह दे रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हैंड सैनिटाइजर का अधिक इस्तेमाल करना भी खतरनाक हो सकता है। चलिए जानते हैं हैंड सैनिटाइजर के अधिक इस्तेमाल से क्या होता है नुकसान-

ये भी पढ़ें – वैज्ञानिकों को मिली बहुत बड़ी सफलता, मिली कोरोनावायरस से जान बचाने वाली दवा

स्किन को पहुंचता है नुकसान

सैनिटाइजर में ट्राइक्लोसान नाम का एक केमिकल तत्व पाया जाता है। इस केमिकल को हाथ की स्किन सोख लेती है। (Hand Sanitizer Side Effects) ऐसे में हैंड सैनिटाइजर के अधिक इस्तेमाल से आपकी स्किन के जरिए यह केमिकल आपके ब्लड में मिल जाता हैं। ब्डल में केमिकल के मिलने से आपकी मांसपेशियों के ऑर्डिनेशन को नुकसान पहुंचाता है।

जलन और खुजली की हो सकती है समस्या

हैंड सैनिटाइजर भले ही आपके हाथों से कीटाणुओं और बैक्टीरिया का सफाया कर देता है, लेकिन इसके अधिक इस्तेमाल से आपके स्किन में जलन और खुजली जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

ये भी पढ़ें – कॉन्डम की भी क्या होती है एक्सपायरी डेट? खरीदने से पहले ये बातें जानना है जरूरी

किडनी और लिवर को पहुंच सकता है नुकसान

सैनिटाइजर में खुशबू लाने के लिए इसमें फैथलेट्स नामक केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। फैथलेट्स जिस सैनिटाइजर में अधिक होती है, वे हमारे सेहत के लिए हानिकारक हो सकते हैं। इस तरह के अधिक खुशबूदार सैनिटाइजर से लीवर, फेफड़े, किडनी और प्रजनन तंत्र को नुकसान पहुंच सकता है।

सैनिटाइजर के अधिक इस्तेमाल से ऐसे बचें

नॉर्मल पानी से धोएं हाथ

बहुत से लोगों को देखा जा रहा है कि वे हर एक आधे घंटे में अपना हाथ साबुन या सैनिटाइजर से साफ कर रहे हैं। लेकिन ऐसा करना जरूरी नहीं है। अगर आपने किसी अनचाही वस्तु को नहीं छूआ है, तो आपको सैनिटाइजर और हैंड वॉश से हाथ धोने की जरूरत नहीं होती है। आप इसके बदले नॉर्मल पानी से हाथ धो सकते हैं।

ये भी पढ़ें – पेट की चर्बी को तेजी से करना है कम, तो रोजाना 10 मिनट करें ये योगासन

टिसू पेपर का करें इस्तेमाल

मौसम बदलने के साथ-साथ सर्दी-खांसी जुकाम का खतरा अधिक रहता है। ये सभी लक्षण कोरोना सॆे मिलते जुलते हैं। ऐसे में जब भी आपको फ्लू हो तो घर से बाहर ना जाएं। छींकने और खांसने के वक्त टिशू पेपर का इस्तेमाल करें, इससे आपको सैनिटाइजर कम इस्तेमाल करना पड़ेगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here