Home Blog Page 2

Get Rid of Double Chin: डबल चिन को घटाने का सबसे आसान तरीका

2
Get Rid of Double Chin
जानें डबल चिन कम करने की एक्सरसाइज और घरेलू उपाय

Get Rid of Double Chin: बॉडी के किसी भी हिस्से में कोई परेशानी दिखाई पड़ती है तो हमें फिक्र होने लगती है। खासकर जब यह समस्या चेहरे से जुड़ी हुई हो। दरअसल बच्चों के चेहरे पर गोल-मटोल चेहरे खूबसूरत लगते हैं, लेकिन बड़े होने के बाद अगर चेहरे पर सामान्य से अधिक मोटापा दिखने लगे असहज महसूस होने लगता है। वैसे तो व्यक्ति क कोई भी कद हो,कोई भी रंग हो या बॉडी की कोई भी शेप हो हर व्यक्ति बेहद खूबसूरत होता है।

प्रत्येक शरीर कद और रंग की कुछ खासियत होती हैं। लेकिन अनियंत्रित खानपान या किसी शारीरिक समस्या के कारण शरीर पर जमने वाला एक्सट्रा (Extra Fat) फैट पेट के साथ-साथ चेहरे पर भी नजर आने लगता है। खासकर, जबड़े के आसपास अधिक चर्बी जमा हो जाने से चेहरा भारी और भद्दा दिखता है। यह आकर्षक व्यक्तित्व को बिगाड़ने के लिए काफी होता है। खूबसूरती को लेकर सजग रहने वालों के लिए यह एक गंभीर समस्या है, जिसे डबल चिन (ठुड्डी) कहा जाता है। “माई हेल्थ खबर, के इस आर्टिकल में हम आपको डबल चिन की समस्या से जल्द छुटकारा पाने के तरीके बताएंगे।

डबल चिन क्या है और इसके होने के कारण (What is Double Chin and its Causes)

किसी भी परेशानी को दूर करने के लिए पहले उसके होने का कारण स्पष्ट कर लेना चाहिए ताकि उसका सही और प्रभावी उपचार किया जा सके। इसी तरह से डबल चिन को ठीक करने के लिए आपके लिए भी यह जानना बेहद जरुरी है कि डबल चिन क्या है और इसके होने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं।

Read Also: वजन कम होने से हो सकती हैं कई समस्याएं, इन तरीकों से बढ़ाएं अपना वजन

डबल चिन क्या है (What is Double Chin)

डबल चिन ठुड्डी के नीचे जमा होने वाली एक्सट्रा चर्बी है, जो नेचुरल फेस क्रीज से अलग नजर आती है। यह एक सामान्य स्थिति है, जिसके परिणामस्वरूप ठुड्डी के नीचे फैट की एक परत बन जाती है। भले ही डबल चिन की समस्या वजन बढ़ने से जुड़ी हो, लेकिन जरूरी नहीं कि जिनका वजन अधिक है, सिर्फ उन्हें ही यह समस्या होती है दरअल डबल चिन की समस्या सामान्य वजन वाले व्यक्ति को भी हो सकती है।

डबल चिन होने का कारण (Causes of Double Chin)

  • जिनके माता-पिता या परिवार में किसी को डबल चिन की समस्या रही हो, तो उन्हें भी डबल चिन का सामना करना पड़े सकता है। डबल चिन किसी भी व्यक्ति को और किसी भी उम्र में हो सकती है।
  • जैसे-जैसे किसी व्यक्ति की उम्र बढ़ती है त्वचा में ढ़ीलापन हो सकता है और जिसके कारण डबल चिन की समस्या हो सकती है ।
  • वजन बढ़न से चेहरे की आसपास की त्वचा में फैट जमा होने से त्वचा में खिंचाव आ सकता है, जिससे चेहरे पर डबल चिन नजर आ सकती है।
  • कभी-कभी मेडिकल कंडिशन  के चलते कुछ परिस्थिति ऐसी बन जाती है, जिसमें घाव या अन्य कारणों से त्वचा पर सूजन आ जाती है। यह भी डबल चिन की समस्या हो सकती है।

ऐसे कम कर सकते हैं डबल चिन (How to get rid of double chin)

डबल चिन चेहरे के आसपास एकत्र हुआ फैट होता है। जिसे दूर करने के लिए आपको आर्टिकल में बताई गई एक्सरसाइज करनी है। ऐसा करने से बहुत जल्द आपको डबल चिन से छुटकारा मिल जाएगा।

एक्स (X) ओ (O)

  • एक्स-ओ एक्सरसाइज करने के लिए आपको मुंह खोलकर एक्स और ओ का उच्चारण करना है। यह अभ्यास बेहद आसान है। इसको करने से चिन में जमा एक्स्ट्रा फैट कम होगा।
  • इसको बारह बार दोहराते हुए 3 सेट करें।

टंग प्रेस (Tongue Press)

Tongue Press Exercise for Double Chin

 

  • ठुड्डी से एक्सट्रा फैट हटाने के लिए यह व्यायाम किया जा सकता है। इसमें जीभ से मुंह के ऊपरी हिस्से को दबाना है और सिर को आगे-पीछे करना होता है।
  • इसको 5 बार दोहराते हुए इसके तीन सेट करें।

साइड नेक स्ट्रेच (Side Neck Stretch)

Side Neck Stretch

  • सीधे बैठें और अपनी गर्दन को दोनों तरफ जितना हो सके स्ट्रेच करें। यह व्यायाम डबल चिन की समस्या से दूर करने में काफी मदद कर सकता है।
  • इसी मुद्रा में इसे 10 बार करें।

Read Also: बिना जिम के घर में इन तरीकों से अपना हिप्स साइज करें कम

किस द सीलिंग (Kiss the ceiling)

Kiss the Ceiling for double chin

  • इस एक्सरसाइज को करने के लिए अपने सिर को पीछे की ओर झुकाएं और मुंह को ‘ओ’ आकार में बनाएं, जैसे कि आप छत को चूम रहे हैं। इससे आपकी ठुड्डी की मांसपेशियों अच्छे से काम करेंगी और फैट बर्न करने में मदद मिलेगी।
  • इसको आप 5 स 10 बार कर सकते हैं।

नेक रोटेशन (Neck Rotation)

Neck rotation

  • इस व्यायाम में गर्दन को गोल-गोल घुमाना होता है, ताकि ठुड्डी और जबड़े की मांसपेशियां हिलें। डबल चिन को कम करने के लिए आप यह व्यायाम कर सकते हैं।
  • इस एक्सरसाइज को 10 बार दोहराएं।

स्टिक टंग आउट (Stick Tongue Out)

Stick Tongue Out

  • जीभ को जितना हो सके बाहर लाएं और इसे एक तरफ से दूसरी तरफ घुमाएं। इस प्रक्रिया से भी डबल चिन की समस्या से निजात पाया जा सकता है।
  • यह एक्सरसाइज आप 12 सेकंड तक 2 बार करें।

इन घरेलू उपायों को भी अपनाएं (Home remedies for double chin removal)

मालिश (Massage)

Massage for Double Chin

मालिश के जरिए भी डलब चिन (Get Rid of Double Chin) की समस्या से दूर किया जा सकता है। इसके लिए अपनी ठुड्डी के नीचे की त्वचा की मालिश कर सकते हैं। मालिश करने से त्वचा में आया ढीलापन कुछ हद तक ठीक हो सकता है। माना जाता है कि मालिश करने से जबड़ों में रक्त का संचार बेहतर होता है और अतिरिक्त फैट के कटने लगता है।

जैतून का तेल (Olive Oil)

  • जैतून का तेल लें (आवश्यकतानुसार)
  • जरूरत के हिसाब से जैतून का तेल लें और हल्का गर्म कर लें।
  • अब ठुड्डी के आसपास और गले पर आराम से मालिश करें।
  • रात भर या एक-दो घंटों के लिए तेल को लगा रहने दें और बाद में पानी से धो लें।
  • रोजाना एक बार यह प्रक्रिया दोहराएं।
  • जैतून के तेल में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन-ई (अल्फा-टोकोफेरॉल) से होता है। ये दोनों गुण त्वचा को पोषित करने के साथ-साथ किसी भी तरह के नुकसान से भी बचाते हैं। इसके अलावा, भोजन में भी जैतून के तेल का प्रयोग कर अतिरिक्त चर्बी को घटा कर डबल चिन की समस्या को कुछ कम किया जा सकता है। अभी इस संबंध में और शोध किया जा रहा है।

Read Also: नींबू पानी में मिलाएं ये 1 चुटकी काला नमक, कुछ ही दिनों में आपकी तोंद हो जाएगी कम

ग्रीन टी (Green Tea)

Green Tea Benefits

  • एक चम्मच ग्रीन टी
  • एक कप गर्म पानी
  • शहद
  • एक कप गर्म पानी में एक चम्मच ग्रीन टी डालें।
  • मिनट के बाद चाय छान लें।
  • अब इसमें शहद मिलाएं और धीरे-धीरे पिएं।
  • रोजाना तीन बार ग्रीन टी का सेवन किया जा सकता है।
  • डबल चिन की समस्या में ग्रीन टी का स्तेमाल किया जाता सकता है। इसमें कैटेचिन पाया जाता है, जो ग्रीन टी को एंटीऑक्सीडेंट और वजट घटाने के गुण से समृद्ध बनाता है। वहीं, डबल चिन (How to Get Rid of Double Chin) होने का एक कारण अतिरिक्त वजन को भी माना जाता है। इसलिए, हम मान सकते हैं कि ग्रीन टी का सेवन कर वजन कम किया जा सकता है, जिससे डबल चिन की समस्या कुछ कम हो सकती है।

ऑयल पुलिंग (Oil Pulling)

  • एक चम्मच नारियल या शीशम का तेल
  • नारियल या शीशम का तेल थोड़ी देर मुंह में रखें।
  • अंदर ही अंदर तेल को घुमाएं।
  • फिर 10 से 12 मिनट बाद थूक दें।
  • रोजाना एक बार ब्रश करने से पहले करें।
  • ऑयल पुलिंग ओरल हेल्थ के साथ-साथ शरीर के डिटाक्सिफिकेशन के लिए भी अच्छा होता है। इस तरीके को अपनाने से चेहरे पर जमा हुआ एक्स्ट्रा फैट कम हो जाता है।

च्विंगम (Chewing Gum)

Chewing Gum for Double Chin

  • च्विंगम भी डबल चिन से निजात पाने का बेहतरीन उपाय हो सकता है। च्विंगम चबाना एक व्यायाम की तरह है, जो चेहरे और ठुड्डी पर मौजूद अतिरिक्त फैट को हटाने में मदद करता है। फिलहाल, इस विषय पर कोई शोध उपलब्ध नहीं है।

Read Also: पेट को करें फ्लैट और बनायें सिक्स पैक एब्स, फॉलो करें ये 4 प्लैंक एक्सरसाइज

खरबूजा (Muskmelon)

Musk Melon

  • आधा कप कटा हुआ खरबूजा
  • कॉटन पैड
  • कटे हुए खरबूजे को पानी (आवश्यकतानुसार) के साथ मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब कॉटन पैड की मदद से इसे ठुड्डी और गले पर लगाएं।
  • 30 मिनट तक पेस्ट लगा रहने दें और बाद में पानी से धो लें।
  • रोजाना एक बार यह प्रक्रिया दोहराएं।
  • डबल चिन की परेशानी को दूर करने के लिए खरबूजा फायदेमंद हो सकता है। इसमें फाइटोकेमिकल्स, एंटीऑक्सीडेंट, विटमिन, मिनरल्स और फाइबर होता है। खरबूजे के ये सभी गुण मोटापा घटाने में मदद कर सकते हैं।

डबल चिन कम करने के लिए खाने में इन चीजों को करें शामिल

आहार

क्या खाएं

सुबह उठते ही 6:30-7:30 (बजे के बीच) एक कप मेथी का पानी
नाश्ता 7:30-8:30 (बजे के बीच) मूंग दाल के दो चीले एक कप ग्रीन टी और 4 बादाम
ब्रंच 10-10:30 (बजे के बीच) एक कटोरी कोई भी मौसमी फल
दोपहर का खाना 12:30-01 (बजे के बीच) 3 रोटी,थोड़े चावल,थोड़ी दाल,1 कटोरी सब्जी,1 कटोरी दही
शाम का नाश्ता 3:30-04 (बजे के बीच) 1 कप नारियल पानी,आधा कटोरी अंगूर य़ा तरबूज खा सकते हैं
रात का खाना 07-7:30 (बजे के बीच) 2 रोटी आधा कटोरी मशरुम/टोफू/चिकन करी और आधा कप उबले हुए पालक/ब्रोकली
रात 9:30-10 (बजे के बीच) 1 गिलास हल्दी डाला हुआ दूध

डबल चिन को हटाने के अन्य विकल्प (Other options to get rid of double chin)

  • डबल चिन से छुटकारा पाने औऱ भी कई तरीके हैं। जिनके जरिए डबल चिन को हटाया जा सकता है।
  •  दरअसल लिपोसक्शन ट्रंसफर (Submental Fat Liposuction) को डबल चिन हटाने की बेहतर बनाने की पारंपरिक तकनीक कहा जाता है। इसके साथ ही कई तरह की थेरेपी के जरिए भी डबल चिन हटाया जाता है। डबल चिन की समस्या का एक कारण शरीर में ज्यादा चर्बी का जमा होना माना जाता है। इसलिए, वजन को कम करके भी डबल चिन को आसानी से हटाया जा सकता है।
  • अच्छी मुद्रा का अभ्यास करें,रोजाना व्यायाम करें,कैलोरी सेवन को सीमित करें,फैट खत्म करने वाले भोजन जैसे ओट्स, नट्स और अंडे का सेवन करें। अगर नियमित रूप से इन उपचारों और व्यायाम को किया जाए, तो डबल चिन की समस्या से निजात पाया जा सकता है औऱ आप किसी भी सर्जरी की मदद लिए बिना डबल चिन से छुटकारा पा सकते हैं।

Read More Articles on Womens Health in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

Weight Gain Tips: वजन कम होने से हो सकती हैं कई समस्याएं, इन तरीकों से बढ़ाएं अपना वजन

1
Weight Gain Tips in Hindi

Weight Gain Tips: लाइफ की इस भागदौड़ में कई तरह की शारीरिक परेशानियां होती रहती हैं। घटते वजन की समस्या भी उन्हीं में से है। आज के समय में ज्यादातर लोग तो ऐसे हैं जो जॉब और करियर के लिए घर से दूर रहते हैं। काम में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि देखते ही देखते उनके वजन कमीं आने लगती है। लेकिन तेजी से घटता वजन अच्छे स्वास्थ्य के संकेत नहीं देता है। एक हेल्दी बॉडी (Healthy Body) के लिए आयु और हाइट के मुताबिक वजन होना जरुरी होता है। अगर व्यक्ति का वजन हाइट और उम्र के हिसाब से ज्यादा हो या फिर कम हो तो दोनों ही स्थिति में बात चिंता की ही है क्योंकि जिस तरह से ज्यादा वजन वाला शरीर बीमारियों  का घर होता है, उसी तरह तेजी से घटता वजन भी शारीरिक क्षमता को घटाता है। जिससे कई तरह की परेशानियां सामने आ सकती हैं। ऐसी कई रिसर्च भी सामने आ चुकी हैं जिसमें तेजी से घटते वजन को खतरनाक बताया गया है। ऐसे में अगर आपका वजन भी घट रहा है और आप वजन बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं तो हमारे बताए जाने वाले रुटीन को लगातार फॉलो करें, इसका रिजल्ट बेहद असरदार होगा।

घटते वजन से होने वाली परेशानियां (Weight Loss Problems)

  1. जब किसी व्यक्ति का (महिला,पुरुष) वजन घटने लगता है तो वह शारीरिक रुप से कमजोर नजर आते हैं, इसके साथ ही उनका व्यक्तित्व भी आकर्षक नहीं लगता है।
  2. घटते वजन के कारण व्यक्ति तनाव का शिकार हो जाता है। जिससे चिड़चिड़ा स्वाभाव हो जाता है।
  3. तेजी से घटता वजन शरीर में कई तरह की बिमारियों को बुलावा देता है। इसके साथ ही शरीर कमजोर होने की वजह से किसी भी बिमारी से रिकवर होने के लिए अधिक समय लग सकता है।
  4. घटते वजन के कारण व्यक्ति का आत्मविश्वास कम हो जाता है औऱ वह ज्यादा टाइम अपने लुक्स (Looks) के बारे में सोचता रहता है।
  5. शरीर में कमजोरी के कारण पेट से जुड़ी कई गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं।

Read Also: बिना वर्कआउट किए कुछ ही दिनों में वजन करें कम, बस घर पर करें ये 5 आसान से काम

वजन बढ़ाने के लिए क्या करें? (What to do to Weight Gain)

  1. पतले-दुबले लोगों को अक्सर यह कहते सुना जाता है कि हमें मॉर्निंग (Morning walk) वॉक, योग व अन्य किसी तरह की शारीरिक क्रिया की जरुरत नहीं है क्योंकि हम तो पहले ही पतले हैं। यह धारणा पूरी तरह से गलत है।
  2. योग, एक्सरसाइज (Exercise, Yoga) और सुबह की सैर सभी के लिए बहुत जरुरी है। ऐसा करने से ना सिर्फ आपकी भूख बढ़ती है, इसके साथ ही शरीर सभी बिमारियों से भी दूर रहता है। बच्चों से लेकर युवा औऱ बुजुर्ग सभी के लिए योग व्यायाम लाभकारी है।

ऐसे बढ़ेगा वजन (5 Weight Gain Tips)

  1. वजन बढ़ाने की शुरुआत करने के लिए सबसे पहले मॉर्निंग वॉक पर जाना होगा। सुबह जल्दी उठना शरीर को रोग मुक्त बनाता है।
  2. हर रोज 20-25 मिनट के लिए योग,व्यायाम करें, इससे भूख बढ़ती है।
  3. रात को सोने से आधा घंटा पहले फोन यूज (Phone use) करना बंद कर दें, नींद जल्दी आयेगी। 7-8 घंटे की नींद जरुर लें।
  4. नाश्ते से लेकर डिनर (Dinner) तक आपको खाने में विटामिन और मिनरल भरपूर मात्रा में लेना होगा। जिससे की वजन बढ़ने के साथ-साथ शारीरिक क्षमता में भी बढ़ोत्तरी हो।
  5. अगर आप थायराइड (Thyroid) जैसी बिमारी से ग्रसित रह चुके हों तो खान-पान का ध्यान रखने के साथ ही डॉक्टर से भी समय-समय पर सलाह लेते रहें, ताकि अगर आपके दुबलेपन का कारण कोई बीमारी हो तो समय रहते उसका इलाज हो जाए।

Read Also: बिना जिम के घर में इन तरीकों से अपना हिप्स साइज करें कम

खाने में किन चीजों को करें शामिल (What to include in Food for weight gain)

  • वजन बढ़ाने के लिए केवल पेट का भरना जरुरी नहीं होता है। इसके लिए जरुरी है कि आप जो खाना खाएं उसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम, कैलोरी, विटामिंस मौजूद हों। अगर आपका वजन कम है तो आप 2000-2200 कैलोरी नियमित रुप से ले सकते हैं। इसलिए अपनी डाइट में ब्रोकली,बंदगोभी,गाजर,पालक व कद्दू को जरुर शामिल करें।
  • जो भी सलाद खाएं उसमें थोड़ा सा जैतून का तेल जरुर डालें। इससे सलाद (Weight Gain Diet & Tips) का स्वाद बढ़ने के साथ ही सलाद में पोषक तत्व भी बढ़ेंगे।
  • हमेशा फुल क्रीम (Full Cream) वाले दूध,दही का प्रयोग करें और भरपूर मात्रा में डेयरी उत्पादों का सेवन करें।
  • सुबह 7-8 बजे के बीच में चीनी के साथ फुल फैट वाले दूध की चाय के साथ कुछ स्नैक्स लें, चाय नहीं पीना हो तो बादाम मिल्क भी ले सकते हैं।
  • 8-9 बजे के बीच में आप दलिया, पोहा, खिचडी, कार्न फ्लैक्स, सब्जी के साथ 2 रोटी या फिर पराठे भी खा सकते हैं।
  • 10-11 बजे के बीच फलों को खाएं, जिसमें केला जरुर शामिल करें। इसके साथ ही आप फुल फैट फिल्क का शेक भी पी सकते हैं। कोशिश करें कि सभी फलों में प्रोटीन की अधिक मात्रा हो।
  • 12:30- 01:30 बजे एक कटोरी सब्जी व दाल के साथ दो रोटियां और एक कटोरी चावल जरुर लें। इसके साथ ही खाने में घी का भी स्तेमाल करें। दोपहर के खाने में सलाद के साथ-साथ एक कटोरी दही जरुर लें।
  • शाम 5:30-6:30 के बीच सब्जियों से बना बटर सूप और पनीर वाला या मेयोनिज वाला सैंडविच भी खा सकते हैं।
  • रात 8:30-9:30 के बीच खाना खा लें। रात के खाने में चावल छोड़कर आप दोपहर की तरह ही अपना पसंदीदा खाना खा सकते है।
  • 10:30-11 बजे के बीच में रोज रात को एक गिलास दूध जरुर पीएं। इससे शरीर में कैल्शियम की कमीं पूरी हो जाएगी।

कैसे मिलेगा फायदा (How to get benefits of foods for weight gain)

  • जब आप खाने में आवश्यकता अनुसार कैलोरी, विटामिन औऱ कैल्शियम (Calcium, Calories, Vitamins)  लेते हैं तो शरीर ज्यादा सक्रिय होता है। इसके साथ ही आप पहले से ज्यादा एक्टिव महसूस करते हैं।
  • हालांकि भोजन में कैलैरी बढ़ाने के नाम पर फास्ट फूड ना खाएं, नहीं तो पेट से जुड़ी परेशानियां हो सकती हैं और इस प्रकार आपका खाने का बना-बनाया रुटीन रुक हो सकता है।
  • वजन बढ़ाने के लिए जरुरत से ज्यादा ना खाएं, बल्कि 1-1 घंटे के ब्रेक में कुछ ना कुछ खाते रहें। इससे आपकी पाचन क्रिया में जोर नहीं पड़ेगा।
  • बार-बार औऱ थोड़ा-थोड़ा खाने से भोजन हजम हो जाएगा और शरीर में जल्द ही असर महसूस होगा।
  • हर रोज एक ही तरह का खाना खाकर आप परेशान हो सकते हैं। इसलिए खाने की नई डिश ढ़ूढ़े जो टेस्टी भी हो और हेल्दी भी हो।
  • कभी फलों की कमीं हो या मन ना हो तो उस दिन आप ड्राई फ्रूट्स भी खा सकते हैं। ब्रेड में बटर की जगह पीनट बटर का प्रयोग कर सकते हैं।
  • सप्लीमेंट (Supplement) लेने से बचे, कोशिश करें कि इसी प्रकार के खाने से ही स्वास्थ्य में सुधार आए। लेकिन फिर भी अगर आपको किसी तरह का प्रोटीन शेक Protein Shake) लेने की जरुरत पड़ती है तो फिर आप डॉक्टर की सलाह लेकर ही सप्लीमेंट का सेवन करें।

Read Also:  गर्मियों में वजन कम करना है आसान, डाइट में शामिल करें ये सीजनल फूड्स

पेट का रखें खास ख्याल (How to take care of Stomach)

  1. वजन बढ़ाने (Weight gain Diet & Tips) की इस पूरी क्रिया में पेट का स्वास्थ्य रहना सबसे ज्यादा जरुरी है। इसलिए ध्यान रखें कि भोजन हेल्दी हो लेकिन उसमें ज्यादा तेल की प्रयोग नहीं किया गया हो।
  2. कई बार तनाव में रहने और नींद पूरी नहीं हो पाने की वजह से पेट जुडी परेशानियां हो जाती हैं, तो अच्छी नींद लेने और तनाव मुक्त रहने के लिए हर रोज ध्यान क्रिया को अपनाएं। ताकि आप पेट की समस्या से बचे रहें।
  3. पेट की पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए आप 3-4 प्रकार के योग कर सकते हैं, जो पेट से जुड़ी परेशानियों से निजात दिलाते हैं।

पेट के योग (Yoga For Stomach)

मत्स्यासन (Matsyasana Yoga Benefits)

इस योग को पेट की सभी परेशानियों का रामबाण इलाज कहा जाता है। इससे पेट की सूजन कम होने के साथ ही पेट का फैट भी कम होता है।

Read Also: कोरोनाकाल में घर पर ही करें योगासन का अभ्यास, फॉलो करें ये टिप्स

धनुरासन (Dhanurasana Yoga Benefits)

धनुरासन पेट की गैस,कब्ज,हाजमा सभी परेशानियों के लिए लाभदायक है। इसके साथ ही यह पीठ दर्द के लिए भी कारगर है।

कपालभाति प्राणायाम (Kapalbhati Pranayama Benefits)

कपालभाति व्यक्ति को तनाव मुक्त करने के साथ-साथ बल्ड सर्कुलेशन को भी ठीक करता है। इसके साथ ही एसीडिटी को दूर करने का बेहद आसान तरीका है।

हलासन (Halasana yoga benefits)

हलासन से पाचन तंत्र और मांसपेशियों को शक्ति मिलती है। इसके साथ ही यह रीढ़ की हड्डी को भी मजबूत बनाता है।

Read Also: बेबी प्लानिंग करने में आ रही है परेशानी, तो इन योगासन से बूस्ट करें अपनी फर्टिलिटी

नौकासन (Naukasana Yoga Benefits)

इस आसन में व्यक्ति की मुद्रा नाव के समान होती है। यह आसन पेट के साथ ही कंधे और कमर दर्द को दूर करने में सहायक होता है।

लगातार फॉलो करें यह सभी स्टेप्स (Regularly follow these steps for weight gain)

घटते वजन को बढ़ाने के लिए आर्टिकल में बताए गए सभी स्टेप्स को करीब 6-7 हफ्तों तक लगातार फॉलो करना पड़ेगा और इसके बाद आप अपना शारीरिक और मानसिक बदलाव खुद महसूस कर पाएंगे।

Read More Articles on Weight Gain Tips

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

 

Hips Size Reduce Exercise: बिना जिम के घर में इन तरीकों से अपना हिप्स साइज करें कम

0
Hip Size Reduce Exercise
इन टिप्स से हिप्स का साइज करें कम

कोरोना काल में लॉकडाउन (Lockdown) ने सभी के लाइफ स्टाइल को बदल कर रख दिया है। रात के खाने से लेकर सोने तक का समय बदल चुका है। जिसका गहरा असर सेहत पर पड़ता है और धीरे-धीरे वजन बढ़ने की समस्या भी होने लगती है। ऐसे में समय पर ध्यान नही दिए जाने पर आपको आने वाले समय में कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए अगर आप भी बढ़ते वजन (Thigh Fat Reduce Tips) का शिकार हो रहे हैं तो समय रहते सतर्क हो जाइए। खासतौर पर अगर आपके हिप्स का साइज (How to Reduce Hips Size) काफी ज्यादा बढ़ रहा है, तो इसे कम करने के लिए इन बातों पर गौर कीजिए…

घर में रह कर भी रहें अनुशासित

लॉकडाउन में भले ही छूट दे दी गई हो, लेकिन अभी भी वर्क फ्रॉम होम (Work from Home) जारी है। जिसके कारण सुबह देर से उठना बड़ी लापरवाही साबित हो रहा है औऱ इसके वजह से पूरी दिनचर्या प्रभावित हो जाती है। समय की कमीं के चलते हम योग, व्यायाम को पूरी तरह से छोड़ कर बैठे हैं। इसके साथ ही तरह-तरह के ऑयली फूड (Oily Food) भी खाते हैं। इसलिए हम आपको बढ़ते वजन के साथ-साथ हिप्स का साइज कम (Butt fat) करने के कुछ खास तरीके बताएंगे। जिसके जरिए आप बिना जिम के ही घर में रहकर अट्रैक्टिव (Attractive Body Shape)  बॉडी शेप पा सकते हैं और मोटापे से होने वाली कई तरह की बिमारियों से भी बच सकते हैं।

Real Also | बिना वर्कआउट किए कुछ ही दिनों में वजन करें कम, बस घर पर करें ये 5 आसान से काम

इन बातों का रखें खास खयाल

  1. बढ़ते वजन को कम करने के लिए डाइटिंग (Dieting) का सहारा नहीं लेना चाहिए। इससे कमजोरी आ जाती है और आए दिन सर दर्द होने लगता है।
  2. बिजी लाइफ स्टाइल (Busy Life Style) को बैलेंस करने की कोशिश करें और मॉर्निग वॉक के साथ हल्की- फुल्की एक्सरसाइज करना शुरु करें।
  3. अगर आप किसी भी तरह की शारीरिक तकलीफ में हों तो उसके लिए अपने किसी करीबी या डॉक्टर से सलाह लें, हर परिस्थिति में अपने आपको तनाव मुक्त रखने की कोशिश करें।
  4. कई बार शरीर के कुछ हिस्सों में ही (पेट, कमर, हिप्स, थाईस) फैट बढ़ता जाता है। जिकसे लिए उसी प्रकार की एक्सरसाइज (Exercise) का चुनाव करें।
  5. हर रोज कम से कम 1 घंटा एक्सरसाइज करें, लेकिन अगर आप इससे ज्यादा शरीर पर जोर देंगे तो थकान के साथ-साथ आपको सुस्ती भी महसूस हो सकती है, इसलिए आवश्यकता से अधिक योग, एक्सरसाइसज से बचें।

हिप्स का साइज कम करने की खास एक्सरसाइज (Special exercises to reduce the size of the hips)

एक्सरसाइज शुरु करने से पहले वार्मअप करना बेहद जरुरी होता है। जिससे कि आप मोच या चोट से बचे रहें।

स्क्वाट्स (Squats)

हिप्स कम करने के लिए स्क्वाट्स एक्सरसाइज बेहद असरदार मानी जाती है। इसे अगर आप नियमित रुप से करते हैं तो रिजल्ट जल्द आपके सामने होगा। स्क्वाट्स एक्सरसाइज जांघ की मांसपेशियों और हिप्स की मांसपेशियां को मजबूत बनाने का काम करती है। इसके साथ ही हिप्स को आकर में लाने में मदद मिलती है।

साइड लांजेस (Side lunges)

Real Also | पेट को करें फ्लैट और बनायें सिक्स पैक एब्स, फॉलो करें ये 4 प्लैंक एक्सरसाइज

साइड लंजेस एक्सरसाइज से पेल्विक और हिप्स की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। साइड लंजेस करते समय सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि अगर यह एक्सरसाइज गलत की गई तो कमर व शरीर के निचले हिस्से में दर्द हो सकता है। हालांकि सही तरीके से करने पर यह हिप्स कम करने के बेहद लाभदायक व्यायाम है।

स्टेयर क्लाइम्बिंग (Stair Climbing)

स्टेयर क्लाइम्बिंग हिप्स की मांसपेशियों का मूवमेंट बढ़ता है और फैट कम करने में मदद मिल सकती है। आप दिन में दो बार सीढ़ियों के लगभग तीन से चार चक्कर लगा सकते हैं। स्टेयर क्लाइम्बिंग हिप्स और थाइस के साथ ही पेट का फैट घटाने में भी कारगर साबित हो सकती है।

स्किप्पिंग रोप (Skipping Rope)

रोजाना 10 Minute रस्सी कूदने से शरीर में Blood सर्कुलेशन सही रहता है। इसके अलावा दिल संबंधी बिमारियों से भी बचाव होता है। 10 मिनट के लिए रस्सी कूदना उतना ही अच्छा है जितना 8 मिनट में एक मील दौड़ना। रस्सी कूदने से हिप्स और थाईस की मांसपेशियां मजबूत होती हैं जबकि शरीर का एक्ट्रा फैट खत्म हो जाता है। रस्सी कूदना एक तरह का फुल बॉडी वर्कआउट है।

ब्रिज एक्सरसाइज (Bridge Exercise)

ब्रिज एक्सरसाइज आपके ग्लूट्स की मांसपेशियों को अलग करता है और मजबूत बनाता है। यह एक्सरसाइज बट और थाईस के अलावा पेट की एक्स्ट्रा चर्बी को भी कम करती है। हालांकि बताई गई सभी एक्सरसाइज को सही तरीके से करना जरुरी है। ताकि आप किसी तरह के शारीरिक दर्द से परेशान ना हो जाएं।

Real Also | मक्खन की तरह पिघलेगी पेट पर जमी चर्बी, शरीर के इन 6 प्वाइंट को करे प्रेश

एक्सरसाइज करने के साथ-साथ इस डाइट प्लान को करें फॉलो (Exercises and Diet plan)

  1. एक गिलास गुनगुने पानी में आधे नींबू का रस मिला कर रोज सुबह पिएं।
  2. खाने में नारियल तेल का प्रयोग करें। यह फैट पचाने में मदद करता है और वजन घटाता है।
  3. एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिला कर पिएं। आप चाहें तो इसमें एक चम्मच शहद भी मिला सकते हैं।
  4. हिप्स की चर्बी कम करने के लिए घरेलू उपाय के रूप में खाना खाने से आधे घंटे पहले ब्लैक कॉफी का सेवन कर सकते हैं।
  5. हिप्स कम करने के घरेलू उपाय के लिए एक कप पीने योग्य गर्म पानी में एक ग्रीन टी बैग को डालें और उसका सेवन करें।
  6. एक दिन में करीब दो से तीन लीटर पानी पिएं।
  7. रात को हल्का खाना खाएं और समय पर सोएं।
  8. खाने में सभी तरह के विटामिंस (Vitamins) शामिल करें।
  9. ड्राई फ्रूट के साथ ही मौसमीं फलों को भी खाएं। (केले को छोड़कर)
  10. नाश्ते में दलिया, सोयाबीन औऱ ब्राउन ब्रेड ले सकते हैं।

4-5 हफ्तों में दिखेगा असर (Result in 4-5 Weeks)

अगर आप अपना वजन वाकई में कम करना चाहते हैं तो बताए गए इन सभी स्टेप्स को नियमित रुप से फॉलो करें और इसका सकारात्मक प्रभाव जल्द ही आपके सामने होगा। अगर किसी कारण आप सुबह के समय में एक्सरसाइज नहीं कर पाते तो शाम को भी कर सकते हैं। इसके साथ ही वजन घटाने कते लिए पानी को कारगर माना गया है। इससे चेहरे से संबंधित परेशानियां तो दूर होंगी ही इसके साथ ही वजन घटाने में आसानी होगी।

Real Also | गर्मियों में वजन कम करना है आसान, डाइट में शामिल करें ये सीजनल फूड्स

वजन घजन घटाने के खास फायदे (Benefits of Weight loss)

  • वजन घटाने से ना सिर्फ इंसान की पर्सनैलिटी (Personality) में निखार आता है, बल्कि शरीर से कई बिमारियां भी दूर होती हैं।
  • सुस्ती दूर होती है, आप ज्यादा खुश रहने के साथ ही फिजिकली (Physically active) भी पहले की तुलना ज्यादा एक्टिव हो जाते हैं।
  • वजन घटने से नजरे तेज होती हैं और याददाश्त भी अच्छी होती है।
  • पेट से जूड़ी सभी परेशानियां दूर होती है और पाचन शक्ति मजबूत होती है।
  • कई बार देखा गया है कि बढ़े वजन के कारण लोग अपनी उम्र से ज्यादा बड़े लगते है। लेकिन अगर आप फिट (Fit) हैं चेहरे और पेट में चर्बी नहीं है तो आप अपनी उम्र से कम ही लगते हैं।
  • घटते वजन के साथ-साथ व्यक्ति का आत्मविश्वास भी बढ़ता है। जिससे आप तनाव मुक्त होने लगते हैं।
  • आज के समय में आप कितनी भी साधारण जीवनशैली में रहते हों लेकिन तरह-तरह के स्टाइलिश (stylish) कपडे पहनने का शौक हर व्यक्ति को होता है, लेकिन कई बार ज्यादा वजन के कारण आप मनपसंद कपड़े नहीं पहन पाते हैं। लेकिन अगर आप थोड़ा समय निकाल कर एक्सरसाइज और डाइट प्लान पर ध्यान देंगे तो खुद को किसी भी तरह के स्टाइल में देख पाएंगे।

Read More Articles on Weight Loss Tips

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

DRDO ने तैयार किया एंटी-कोविड ड्रग, इस तरह कोरोना से लड़ने में मदद करेगी 2DG दवाई

0
DRDO 2DG Anti Covid Drug
DRDO ने तैयार किया एंटी-कोविड ड्रग, इस तरह कोरोना से लड़ने में मदद करेगी 2DG दवाई

कोरोना से लड़ने के लिए भारत के पास एक और हथियार आ चुका है। जी हां, कोविड-19 से लड़ने के लिए DRDO के वैज्ञानिकों द्वार एक Anti Covid 19 Drud तैयार की गई है। इस दवाई का नाम है 2-deoxy-D-glucose यानी 2डीजी है। डीआरडीओ के वैज्ञानिकों द्वारा यह एंटी-कोविड ड्रग तैयार किया गया है। इस दवाई का पहला बैच रक्षामंत्री राजनाथ और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सिंह द्वारा लॉन्च किया गया है।

आपको बता दें कि पिछले एक साल से हाइड्रॉक्‍सीक्‍लोरोक्विन, रेमडिसिविर, आइवरमेक्टिन जैसी अन्य दवाइयों का कोरोना पर असर को लेकर रिसर्च किया जा रहा है, लेकिन 2DG को कोरोना की पहली Anti Covid Drug कहा जा रहा है। चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से-

किसने किया 2DG दवाई को तैयार?

डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) के इंस्टिट्यूट ऑफ न्‍यूक्लियर मेडिसिन एंड अलाइड साइंसेज (INMAS) द्वार कोरोना की इस दवा को विकसित किया है। दवाई को तैयार करने में हैदराबाद स्थित डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरी (DRL) के रिसर्चर्स का भी काफी बड़ा योगदान रहा है। डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरी (DRL) द्वारी ही यह दवाई आम लोगों के लिए तैयार की जाएगी। बता दें कि यह दवा पाउडर के रूप में उपलब्‍ध होगी।

Read Also: कोरोनाकाल में ऑक्सीजन लेवल कम होना है खतरनाक, 6 Minute Walk Test से जानें अपना ऑक्सीजन स्तर

कब की गई थी दवाई बनाने की शुरुआत?

कोविड-19 की पहली लहर में ही इस दवाई को बनाना शुरू किया गया था। पहली लहर के दौरान ही INMAS के वैज्ञानिकों ने इस दवाई को तैयार करने का काम शुरू कर दिया था। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने मई 2020 में 2DG दवा के कोविड मरीजों पर फेज 2 ट्रायल की मंजूरी दे दी। फेज-2 ट्रायल अक्टूबर 2020 तक चला। इस ट्रायल में बताया दवाई को सेफ बताया गया और इससे कोरोना से रिकवरी होने में भी मदद मिल सकती है। फेज-2 के रिजल्ट के बाद DCGI ने नवंबर 2020 में फेज 3 ट्रायल की मंजूरी दी। इसके बाद ट्रायल डेटा के आधार पर DCGI ने 9 मई 2021 को इस दवा की आपातकालीन इस्‍तेमाल को मंजूरी दे दी है।

Read Also: हार्ट अटैक से क्यों मर रहे हैं Corona के मरीज? जानिए Heart Attack से पहले दिखने वाले लक्षण

शरीर में कैसे काम करेगी ये दवा

फिलहाल इस दवा का इस्तेमाल सेकंडरी मेडिसिन की तरह किया जाएगा। यानी यह प्राइमरी मेडिसिंस के सपोर्ट में इसका इस्तेमाल किया जाएगा। देखने में यह दवा ग्लूकोज की तरह है, लेकिन यह ग्लूकोज की तरह कार्य नहीं करता है। दरअसल, कोविड-19 जब हमारे शरीर में प्रवेश करता है, तो नई कॉपीज बनाना शुरू कर देता है। नई कॉपीज को बनाने के लिए इन्हें ताकत की आवश्यकता होती है, जो इन्हें ग्लूकोज से मिलता है। ऐसे में जब यह दवा मरीज को दी जाएगी, तो वायरस इस दवा को ग्‍लूकोज समझकर लेगा और उसी में फंस जाएगा। इससे रिजल्ट यह मिलेगा कि वायरस अपनी नई कॉपीज बना नहीं बना पाएगा। यानि इसके कारण वायरस की ग्रोथ रूक जाएगी।

इस बारे में INMAS के डायरेक्‍टर डॉ. अनिल मिश्रा का कहना है कि 2डीजी दवाई अपनी कॉपी तैयार करने वाले वायरस को कैद कर लेती है। यानी वायरस का कोई भी वेरिएंट हो, अपनी भूख मिटाने के दवा को ग्लूकोज समझकर आगे बढ़ेगा, तो इसमें फंस कर रह जाएगा। डॉ. मिश्रा के अनुसार, इस दवा के लेने से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाएगी। क्योंकि वायरस तेजी से मल्‍टीप्‍लाई होने लगता है। जैसे ही यह प्रक्रिया रूकेगी, तो ऑक्सीजन की कमी भी दूर हो जाएगी।

Read More Articles on Corona News in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

प्रदूषण और केमिकल्स से रूखे हो चुके हैं आपके बाल? इस हेयर पैक के इस्तेमाल से पाएं सिल्की और शाइनी हेयर

0
Hair Pack for Silky Hair
प्रदूषण और केमिकल्स से रूखे हो चुके हैं आपके बाल? इस हेयर पैक के इस्तेमाल से पाएं सिल्की और शाइनी हेयर

Hair Pack for Silky Hair: बालों की खूबसूरती से ही स्किन की खूबसूरती पर निखार आता है। अगर आपके बाल अच्छे से शाइन करते हैं, तो आपकी स्किन पर भी शाइन नजर आता है। लेकिन बढ़ते प्रदूषण और गलत खानपान की वजह से स्किन की समस्याओं के साथ-साथ बालों की भी कई समस्याएं बढ़ी हैं। प्रदूषण की वजह से हमारे बाल काफी रूखे और बेजान नजर आने लगे हैं। ऐसे में बालों को सिल्की बनाने के लिए हम बाहर के केमिकल्सयुक्त प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने लग जाते हैं। लेकिन ऐसा करना बालों के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। अगर आप अपने बालों को सिल्की और शाइन देना चाहते हैं, तो घरेलू नुस्खों को आजमाएं। घरेलू नुस्खों के लिए बालों में शाइन नजर आने लगेगा। इन घरेलू नुस्खों (Hair Pack for Silky Hair) में सबसे असरदार है, ज्यादा पका हुआ केला।

Read Also: लंबे और खूबसूरत बालों के लिए फायदेमंद है प्याज का रस, इस तरीके से लगाने पर बढ़ेगी इसकी लंबाई

जी, हां हम में से कई लोग ज्यादा पके हुए केले को फेंक देते हैं। लेकिन अब आप ऐसा बिल्कुल नहीं करेंगे। ज्यादा पके हुए केले के इस्तेमाल से आपकों में नई जान लाई जा सकती है। साथ ही इससे बालों को कई तरह के पोषक तत्व भी मिल सकते हैं, जिससे आपके बालों की ग्रोथ अच्छी होगी। चलिए जानते हैं कैसे तैयार करें ये हेयर पैक (Hair Pack For Silky Hair)

Read Also: घर में तैयार करें आयुर्वेदिक मेंहदी तेल, कुछ ही दिनों में बालों की सभी समस्याएं होंगी दूर

सिल्की बालों के लिए कैसे बनाएं हेयर पैक? (How to make hair pack for silky & smooth hair)

आवश्यक सामाग्री
केला – 1 (ज्यादा पका हुआ)
दही – 1 कटोरी
ऑलिव ऑयल – 1 चम्मच

इस्तेमाल करने का तरीका

सबसे पहले केले को छिलका सहित काट लें और इसे मिक्सी में अच्छी तरह से पीस लें। इसके बाद इसमें 1 कटोरी दही और 1 चम्मच ऑलिव ऑयल मिक्स करें। इसके बाद इस हेयर पैक को अपने पूरे बालों में लगाएं। हेयर पैक सूखने के बाद अपने बालों को नॉर्मल पानी से धो लें। आप देखेंगे कि आपके बाल एक्ट्रा सिल्की हो गए हैं।

Read More Articles on Hair Care Tips in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

कोरोनाकाल में ऑक्सीजन लेवल कम होना है खतरनाक, 6 Minute Walk Test से जानें अपना ऑक्सीजन स्तर

1

6 Minute Walk Test: कोरोना वायरस की दूसरी लहर लोगों पर कहर ढा रही है। हर दिन लाखों की संख्या में नए केस सामने आ रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर, पहली लहर से ज्यादा खतरनाक है। यह युवाओं को काफी तेजी से संक्रमित कर रहा है। कोरोना की दूसरी लहर में युवाओं को सांस लेने में काफी ज्यादा परेशानी हो रही है। शरीर में अचानक से ऑक्सीजन का स्तर कम होने से कई लोगों की मौत हो चुकी है। पूरे देश में ऑक्सीजन की किल्लत है। ऐसे में कोरोना से खुद का बचाव करना बहुत ही जरूरी हो चुका है। कोरोना का पता लगाने के लिए समय-समय पर शरीर का ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहना चाहिए। 6 Minute Test के जरिए Covid 19 से संक्रमण के बारे में पता लगाया जा सकता है। हाल ही में Maharashtra सरकार ने प्रशासन को निर्देश दिया है कि लोगों को इस टेस्ट के प्रति जागरूक किया जाए। इस टेस्ट को आप अपने घर में ही बहुत ही आसानी से कर सकते हैं। आइए जानते हैं यह टेस्ट करने (6 Minutes Covid-19 Test) का तरीका-

Read Also: कोरोना मरीजों को हो रही है एक और खतरनाक बीमारी, जानिए क्या है इसके लक्षण

कैसे करें ऑक्सीजन लेवल चेक (How to check oxygen level)

कोविड-19 की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर लोगों को अपने घर में ऑक्सीमीटर रखने की आवश्यकता है। इसका उपयोग ऑक्सीजन स्तर को जांच करने के लिए किया जाता है। ऑक्सीजन लेवल चेर करने के लिए उंगली में 6 मिनट ऑक्सीमीटर लगाकर वॉक टेस्ट करें। इसके लिए अपनी तर्जनी या फिर मध्यमा अंगुली में ऑक्सीमीटर लगाएं। इसके बाद 6 मिनट के लिए एक समान सतह पर बिना रूके चलें। अगर लगातार 6 मिनट चलने पर ऑक्सीजन का स्तर नीचे नहीं जाता है, तो वह व्यक्ति स्वस्थ है।

इन बातों पर दें ध्यान (Focus on these points)

अगर आपका ऑक्सीजन स्तर 1 से 2 फीसदी कम हो जाए, तो इसमें चिंता की कोई बात नहीं है। डॉक्टरों का कहना है कि मरीजों को अपने ऑक्सीजन स्तर पर हमेशा नजर रखनी चाहिए। दिन में दो से तीन बार एक्सरसाइज करें। अगर ब्लड में ऑक्सीजन का स्तर 93 फीसदी से कम हो जाए और व्यक्ति को सांस लेने में परेशानी हो, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। बता दें कि अस्थमा के मरीजों को यह टेस्ट की सलाह नहीं दी जाती है। साथ ही 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को 3 मिनट वॉकिंग टेस्ट (3 Minute Walk Test) करने की सलाह देते हैं।

Read Also: कोविड-19 वैक्सीनेशन से पहले क्या खाएं और क्या नहीं?

कुछ महत्वपूर्ण बातें (Important Points)

  • इस समय हल्के कपड़े पहनें।
  • हमेशा आरामदायक चप्पल या जूतें पहनें।
  • मरीजों को चलने के लिए बेंत, छड़ी या वॉकर का इस्तेमाल करने के लिए दें।
  • वॉकिंग टेस्ट करने से पहले हल्का भोजन करें।
  • डॉक्टर द्वारा दी सामान्य दवाएं लेते रहें।
  • 6 मिनट वॉकिंग टेस्ट के बाद करीब 2 घंटे तक एक्सरसाइज न करें।

Read More Articles on Corona News in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health Tips की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

 

हाई ब्लड प्रेशर से हो सकती हैं कई गंभीर बीमारियां, इन 3 जूस के सेवन से Hypertension को करें कंट्रोल

0
World Hypertension Day in Hindi
World Hypertension Day 2021: हाई ब्लड प्रेशर से हो सकती हैं कई गंभीर बीमारियों, इन 3 जूस के सेवन से हाइपरटेंशन को करें कंट्रोल

World Hypertension Day 2021: हाइपरटेंशन को साधारण भाषा में हाई ब्लड प्रेशर या फिर उच्च रक्तचाप कहा जाता है। आधुनिक समय में इस बीमारी से कई लोग प्रभावित हैं। इस बीमारी की वजह से कई लोगों को अन्य गंभीर बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। जैसे- हार्ट अटैक, स्ट्रोक इत्यादि। हाई ब्लड प्रेशर से ग्रसित मरीजों के शरीर में ब्लड फ्लो काफी तेजी से होने लगता है। जिसकी वजह से मरीजों में चिड़चिड़ापन, ज्यादा गुस्सा जैसी शिकायतें होने लगती हैं। ब्लड प्रेशर (World Hypertension Day 2021) को कंट्रोल करने के लिए दवाइयों के साथ-साथ डाइट का भी सहारा लिया जा सकता है। गर्मियों के मौसम में जूस का सेवन करके आप हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कंट्रोल कर सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे ड्रिंक्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आप हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कंट्रोल कर सकते हैं। चलिए जानते हैं उन ड्रिंक्स के बारे में-

Read Also: हार्ट अटैक से क्यों मर रहे हैं Corona के मरीज? जानिए Heart Attack से पहले दिखने वाले लक्षण

टमाटर का जूस (Tomato Juice)

डायटीशियन की मानें तो नियमित रूप से 1 गिलास टमाटर का जूस पीने से Heart Attack के खतरे से बचा जा सकता है। इतना ही नहीं यह High Blood Pressure रोगियों के लिए भी फायदेमंद है। हाल ही में हुए अध्ययन के अनुसार, टमाटर में मौजूद गुण ब्लड प्रेशर को कम करने में लाभकारी होते हैं। यह जूस एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो ब्लड प्रेशर रोगियों के लिए फायदेमंद है। हाई ब्लड प्रेशर रोगी टमाटर के जूस में बिना नमक मिलाए इसका सेवन करें। इससे बीपी की परेशानी कंट्रोल हो सकती है।

चुकंदर का जूस (Sugar Beets Juice)

एक्सपर्ट के अनुसार, चुकंदर का जूस पीने से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है। हाल ही में हुए रिसर्च में 15 प्रतिभागियों को नियमित रूप से 250 एमएल चुकंदर का जूस पिलाया गया, जिसके बाद मरीजों में ब्लड प्रेशर 10 एमएमएचजी कम देखा गया है। इस रिसर्च के मुताबिक, अगर आप नियमित रूप से चुकंदर का जूस पीते हैं, तो इससे ब्लड प्रेशर को काफी हद तक कंट्रोल कर सकते हैं। डॉक्टर के मुताबिक, चुकंदर में नैचुरल दवाई होता है, जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने का गुण रखता है।

Read Also: क्या है Hemophilia जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

अनार का जूस (Pomegranate Juice)

अनार एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। अनार का यह गुण हमारे शरीर में लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल यानि बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में हमारी मदद कर सकता है। नियमित रूप से इस जूस के सेवन से आप बीपी को नॉर्मल रख सकते हैं। यह हमारे शरीर में ब्लड फ्लो को सही रखता है। साथ ही शरीर में आयरन की कमी को भी दूर करता है।

बीमारियों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें Diseases News in Hindi


देश और दुनिया से जुड़ी Health News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

Covid-19 : कुछ ही सेकंड में मधुमक्खी कर सकते हैं कोरोना से संक्रमित व्यक्ति की पहचान

0
Covid 19 Honey bee
कुछ ही सेकंड में मधुमक्खी कर सकते हैं कोरोना से संक्रमित व्यक्ति की पहचान

Covid 19: कोरोनाकाल जब से शुरु हुआ है, तब से वैज्ञानिक दिन रात एक करके इसके बारे में पता लगाने की कोशिश में जुटे हुए हैं। हर दिन कोरोना को लेकर नए-नए रिसर्च सामने आ रहे हैं। इन्हीं में से एक रिसर्च है नीदरलैंड के वैज्ञानिकों का। नीदरलैंड के वैज्ञानिकों का दावा है कि Honey Bee की मदद से कोरोना के संक्रमण का पता कुछ ही सेकंड में पता लगाया जा सकता है।

वैज्ञानिकों का दावा है कि मधुमक्खियों की मदद से Covid 19 के संक्रमण का पता लगाया जा सकता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि जब भी मधुमक्खियों के पास संक्रमित व्यक्तियों का सैंपल लाया जाए, तो वह अपनी जुबान निकाल देते हैं। यानि अगर सैंपल के सामने मधुमक्खियां जुबान निकाल दें, तो व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है। रिसर्चर्स का कहना है कि कोरोना के संक्रमण का पता आप जानवरों की मदद से कर सकते हैं।

Real Also: कोरोना मरीजों को हो रही है एक और खतरनाक बीमारी, जानिए क्या है इसके लक्षण

कैसे किया मधुमक्खियों को ट्रेन (How did the bees train)

वैज्ञानिकों का कहना है कि गंध के जरिए मधुमक्खी कोविड-19 का पता लगा सकते हैं। इसके लिए ही मधुमक्खियों को ट्रेन किया गया है। इस रिसर्च में 150 से अधिक मधुमक्खियों को शामिल किया गया था। रिसर्च के लिए चीनी और पानी का घोल यूज किया गया था। मधुमक्खियों को यह घोल देकर टेस्ट किया गया। रिसर्च के लिए कोरोना से संक्रमित मिंक का गंध यूज किया गया है।

Real Also: कोविड-19 वैक्सीनेशन से पहले क्या खाएं और क्या नहीं?

कैसे करते हैं मधुमक्खी कोविड पॉजिटिव की पहचान (How Honey bees identify Covid Positive)

वैज्ञानिकों का कहना है कि कोविड-19 से पॉजिटिव व्यक्ति के शरीर के तरल पदार्थ का गंध कोरोना निगेटिव व्यक्ति की तुलना में थोड़ा अलग हो जाता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि जब स्वस्थ व्यक्ति के शरीर का सैंपल रखा गया, तो मधुमक्खियों द्वारा कोई रिस्पॉंस नहीं किय़ा गया। वहीं, कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति का सैंपल सामने आते ही वह जबान बाहर करता है। ऐसे में कुछ सेकंड में ही कोविड-19 की पहचान की जा सकती है।

Read More Articles on Health and Diseases News in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

Fruits for Covid-19: कोरोना से बचाव करे ये 5 खट्टे फल, रोजाना Diet में जरूर करें शामिल

0
Fruits for Covid-19
कोरोना से बचाव करे ये 5 खट्टे फल, रोजाना डाइट में जरूर करें शामिल

Fruits for Covid-19: कोरोना की दूसरी लहर ने देश में हाहाकार मचा दिया है। कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से देश के अस्पतालों में काफी ज्यादा भीड़ हो चुकी है। इसकी वजह से कई गंभीर मरीजों को बेड भी नहीं मिल पा रहे हैं। देशभर के कई राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत भी झेलने को मिल रही है। पिछले साल की तुलना में इस साल कोरोना के मामले में काफी बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में कोरोना महामारी से बचने के लिए लोग अपनी इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने में लगे हुए हैं। अगर आप भी इम्यूनिटी को बूस्ट रखना चाहते हैं, तो अपने डाइट में खट्टे फलों (Fruits for covid recovery) को शामिल करें। खट्टे फलों के सेवन से इम्यूनिटी बूस्ट होगी, साथ ही कई पोषक तत्वों की कमी भी दूर हो सकती है। चलिए जानते हैं उन फलों के बारे में-

संतरा (Oranges)

Orange Benefits in Hindi

Read Also: इन जरूरी पोषण से 80 से 85 फीसदी कोविड-19 से संक्रमित लोग घर में हो सकते हैं ठीक, केंद्र सरकार ने जारी की लिस्ट

संतारा स्वाद में काफी ज्यादा खट्टा होता है। इसके सेवन आप कई तरह से कर सकते हैं। ज्यादातर लोग संतरे का जूस पीना पसंद करते हैं। यह विटामिन सी से भरपूर होता है। एक्सपर्ट की मानें तो एक मध्यम आकार के संतरे में करीब 53.2 मिग्रा विटामिन सी होता है। साइट्रिक फल एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। साथ ही यह इम्यूनिटी बूस्ट करने में काफी असरदार है।

आंवला का करें सेवन (Gooseberry)

आयुर्वेद में काफी लंबे समय से संतरे का इस्तेमाल किया जा रहा है। संतरे के सेवन से आप अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बना सकते हैं। आंवले में सभी फलों की तुलना में काफी ज्यादा Vitamin c होता है। संतरे की बात करें, तो इसमें संतरे के करीब 20 गुणा अधिक विटामिन सी मौजूद होता है। आंवले के सेवन से आप मेटाबॉलिज्म रेट भी बूस्ट कर सकते हैं।

Read Also: कोरोना मरीजों को हो रही है एक और खतरनाक बीमारी, जानिए क्या है इसके लक्षण

कीवी खाएं ढेर सारे (Kiwi)

कीवी आपको हर एक सीजन में बहुत ही आसानी से मिल जाएगा। यह हमारे शरीर में कई पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है। इसे इम्यूनिटी बूस्टर फ्रूट्स के नाम से भी जाना जाता है। Kiwi में भरपूर रूप से विटामिन सी की प्रचूरता (Covid 19 Vitamin C Fruits) होती है। अगर आप नियमित रूप से कीवी का सेवन करते हैं, तो आपकी इम्यून सिस्टम मजबूत बनी रहेगी।

अनानास को बनाएं डाइट का हिस्सा (Pineapple)

अनानास को आप अपने डाइट का हिस्सा बनाएं। यह कई पोषक तत्वों का पावर हाउस माना जाता है। इसमें विटामिन सी की प्रचुरता होती है। साथ ही यह मैग्नीशियम जैसे तत्वों स भरपूर होता है। इसके अलावा अनानास में कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है, जो बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में आपकी मदद कर सकता है।

Read Also: हार्ट अटैक से क्यों मर रहे हैं Corona के मरीज? जानिए Heart Attack से पहले दिखने वाले लक्षण

नींबू (Lemon)

विटामिन सी की बात की जाए और नींबू का नाम न लिया जाए, ये हो नहीं सकता है। नींबू से हम सभी अच्छे से वाकिफ हैं। गर्मियों में शरीर को हाइड्रेट रखने के साथ-साथ नींबू एक बेहतरीन इम्यूनिटी बूस्टर है। साथ ही वजन को कम करने में कारगर है।

ध्यान रखें कि विटामिन सी से भरपूर फलों के सेवन से आप सिर्फ इम्यूनिटी बूस्ट कर सकते हैं। इससे कोरोना का इलाज नहीं किया जा सकता है। इसलिए अगर आपको कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं, तो घरेलू उपाय के बजाय डॉक्टर से संपर्क करें। ताकि आपका समय से इलाज हो सके। साथ ही सरकार द्वारा दिए दिशा-निर्देशों का पालन करें।

Read More Articles on Corona Diet in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. YouTube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

 

इन जरूरी पोषण से 80 से 85 फीसदी कोविड-19 से संक्रमित लोग घर में हो सकते हैं ठीक, केंद्र सरकार ने जारी की लिस्ट

0
Diet Chart for Covid 19
इन जरूरी पोषण से 80 से 85 फीसदी कोविड-19 से संक्रमित लोग घर में हो सकते हैं ठीक, केंद्र सरकार ने जारी की लिस्ट

Covid 19 Diet Chart: कोरोनाकाल में इम्यूनिटी बूस्ट होना बहुत ही जरूरी हो चुका है। मजबूत इम्यूनिटी होने से आप कोरोना के संक्रमण से बच सकते हैं। इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए पिछले 2 सालों से लोग तरह-तरह के उपाय अपना रहे हैं। इस बीच केंद्र सरकार द्वारा MyGovIndia नामक ट्विटर हैंडल पर एक ट्वीट किया गया है, जिसमें रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए कुछ खाद्य सामाग्रियों की लिस्ट जारी की गई है।

कोविड के मरीजों में कई तरह के लक्षण दिखते हैं, जिसमें से स्वाद और गंध का खो जाना सामान्य लक्षणों में से एक है। कोरोना से ग्रसित मरीजों में भूख की कमी देखी गई है। साथ ही कुछ मरीजों को निगलने में परेशानी होती है, जिसके कारण मांसपेशियों को हानि पहुंच सकती है। केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देश में कहा गया है कि “कोरोना के मरीजों को (Diet List for Covid-19 Patients) थोड़ी-थोड़ी देर पर नरम भोजन करना चाहिए। साथ ही भोजन में अमचूर को शामिल करना महत्वपूर्ण बताया गया है।

https://twitter.com/mygovindia/status/1390347626994864134?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1390347626994864134%7Ctwgr%5E%7Ctwcon%5Es1_&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.abplive.com%2Flifestyle%2Fcovid-19-centre-lists-foods-to-boost-immunity-know-what-are-others-in-diet-plan-1911877

Read Also – कोविड वैक्सीन लेने से पहले और बाद में जरूर खाएं ये फूड्स, वैक्सीन साइड-इफेक्ट से होगा बचाव

केंद्र सरकार द्वारा जारी लिस्ट (Central Govt. Diet List )

  • शरीर में विटामिंस और खनिज की पूर्ति के लिए रंगीन फलों और सब्जियों का सेवन करें।
  • स्ट्रेस फ्री रहने के लिए कम से कम 70 फीसदी कोको पाउडर के साथ डार्क चॉकलेट का सेवन करें।
  • इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए हल्दी वाला दूध पिएं।
  • थोड़ी-थोड़ी देर में नरम खाना खाएं। अपने भोजन में अमचूर को जरूर शामिल करें।
  • इस दौरान जौ, रागी, अमरबेल जैसे साबुत अनाज का सेवन करें।
  • चिकन, मछली, पनीर, सोया जैसे प्रोटीन युक्त आहार का सेवन करें।
  • सरसों का तेल, अखरोट, जैतून का तेल, बादाम जैसे वसा युक्त आहार का सेवन करें।

Read Also – गर्मी में बनाए ओट्स से ये हेल्दी और चिल्ड रेसिपी, सेलेब्रिटी डायटीशियन से जानें इसकी विधि

बता दें कि Corona Pandemic काफी तेजी से फैल रहा है। हर दिन लाखों की संख्या में नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, रिकॉर्ड तोड़ मौतें हो रही हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों में हल्की सर्दी, जुकाम होने पर भी दशहत फैल रही है। कोविड-19 से लड़ने के लिए Social Media पर कई फेक वीडियो और पोस्ट जारी किए जा रहे हैं, जिसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। ऐसे में इन फेक वायरल पोस्ट की सच्चाई जानने की कोशिश करें। इसके अलावा केंद्र द्वारा बार-बार दोहराया जा रहा है कि कोविड के 80 से 85 प्रतिशत मामले घर पर ही ठीक हो सकते हैं। कोरोना रो बिना किसी गंभीर इलाज के जरूरी पोषक तत्वों के नियमित सेवन से ठीक किया जा सकता है। खुद को फिट रखने के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज करें।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

देश और दुनिया से जुड़ी Health News की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें. Youtube Channel यहाँ सब्सक्राइब करें। सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करें, Twitter और Instagram पर फॉलो करें।

- Advertisement -

Recent Posts

Facebook
Twitter
YouTube
Pinterest
Instagram